कुंडहित में पेड़ो की अंधाधुंध कटाई से जंगल हो रहे विरान, वन विभाग है निष्क्रिय



कुंडहित (जामताड़ा ):कुंडहित वन क्षेत्र से लगातार पेड़ों का गायब हो जाना चिंता का विषय बन गया है पर्यावरण संरक्षण को लेकर अगर समय रहते सचेत नहीं हुए तो वो दिन भी दूर नहीं जब पानी के लिए लोगों को पानी-पानी होना पडे़गा। जल, जंगल व जमीन की सुरक्षा के लिए भले ही सरकार करोड़ों रूपये पानी की तरह बहा रही है। यद्यपि यहां जंगलों की सफाई लगातार जारी है। ऐसे में ये कहना गलत नहीं होगा की जब जंगल नहीं बचाओगे तो जल कहां से लाओगे।  कुंडहित रेंज अंतर्गत कदमा एवं रामपुर वन सुरक्षित सीमा क्षेत्र जंगल ही जंगल से भरा पड़ा है। मगर पिछले कुछ सालों से इन जंगलों को वन माफिया दीमक की तरह चाट रही है। इन वन क्षेत्रों से साधारण के साथ बेसकीमती पेड़ों पर भी माफिया की नजर लग गई है। परिणाम स्वरूप जंगलों से पेड़ गायब हो रहे है

कोई टिप्पणी नहीं