कृषि ऋण के लाभुक को नोड्यूज सर्टिफिकेट के बाद बैंक ने फिर ऋण वापसी के लिए भेजा नोटिस



नारायणपुर(जामताड़ा): झारखंड सरकार किसानों के ऋण माफी हेतु लगातार प्रयास कर रही है |इसी क्रम में सूबे के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कृषि विभाग और बैंक अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि जिन किसानों के ऋण माफी हुए हैं उन्हें नो ड्यू सर्टिफिकेट दें और उन्हें बैंक कृषि ऋण से मुक्त करें | लेकिन नारायणपुर प्रखंड मुख्यालय स्थित संचालित भारतीय स्टेट बैंक शाखा के कर्मियों ने कुछ अजीबोगरीब लापरवाही की है |मामला कुछ इस प्रकार है कि नारायणपुर प्रखंड क्षेत्र के आहारडीह ग्रामवासी बिगू  महतो ने वर्ष 2012 में भारतीय स्टेट बैंक नारायणपुर शाखा से 14 हजार की राशि कृषि लोन के रूप में लिए थे | जिसकी बैंक खाता संख्या 32507324285 किसान बिगू  महतो ने 03/04/2018 को 3 हज़ार औऱ 25/01/2021 को 2 हजार 6 सौ रुपए देकर नो ड्यूज सर्टिफिकेट प्राप्त किया लेकिन बैंक ने अपनी लापरवाही को दर्शाते हुए किसान को पुनः ऋण वापसी हेतु एक नोटिस भेजा है |जिसमें 10 जुलाई 2021को  राष्ट्रीय लोक अदालत जामताड़ा में ऋण समझौता हेतु बुलाया है |अब किसान परेशान और हैरान है| पीड़ित किसान का कहना है कि मैंने पूर्व में ही विभिन्न अंतरालों  में ऋण की राशि भुगतान की है| वहीं विगत दिनों ऋण माफी योजना में मेरे ऋण माफ करने की बात बैंक अधिकारियों के द्वारा बताई गई थी |जिसके बाद मुझे बैंक द्वारा नो डियूज का सर्टिफिकेट भी दिया गया है|लेकिन जब  पुनः ऋण समझौता हेतु नोटिस भेजा गया है |जिससे मैं काफी परेशान हूं| पीड़ित किसान ने कहा कि जिला प्रशासन उक्त मामले को संज्ञान में लेकर जांच करें एवं उचित कार्रवाई करें ताकि भविष्य में बैंक कर्मी के द्वारा इस प्रकार की गलती किसी के साथ ना की जाए|

कोई टिप्पणी नहीं