नाला सीएचसी में बीडीओ,सीओ ने फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम का उद्घाटन किया ।



नाला (जामताड़ा)- नाला सीएचसी में प्रखंड विकास पदाधिकारी नाला कौशल कुमार , अंचलाधिकारी सुनिता किस्कू,प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ० नदिया नंद मंडल, आदि ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इस अवसर पर पदाधिकारियों ने निर्धारित आयु वर्ग के बच्चों को डीईसी तथा एल्बेंडाजोल की दवाई खिलाई। इस दौरान प्रखंड विकास पदाधिकारी कौशल कुमार कार्यक्रम की सफलता को लेकर सभी लोगों से दवा खाने की अपील की कहा कि यह दवा फाइलेरिया के रोगाणु को मार देती है और इस प्रकार की गंभीर बीमारी से लोगों को निजात दिलाती है । कहा की यह दवा काफी कारगर है। ।वहीं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ० नदिया नंद मंडल ने मलेरिया के लक्षण तथा बचाव के बारे में जानकारी दी, कहा कि फाइलेरिया मच्छर के काटने से होने वाला एक संक्रामक रोग है । व्यक्ति किसी भी उम्र में  फाइलेरिया से संक्रमित हो सकता है । कहा कि फाइलेरिया के लक्षण हाथ और पैर की सूजन व अंडकोष का सूजन ( हाइड्रोसील) है।उन्होंने सभी लोगों से फैलेरिया बचाव के लिए डीईसी तथाएल्बेंडाजोल खाने की अपील की ।इस अवसर पर डॉ०रामकृष्ण बाबू ,डॉक्टर पंकज शर्मा ,लेखा प्रबंधक सूरज वर्मा ,गयासुद्दीन अंजाम, मलेरिया सुपरवाइजर अहमद रजा परवेज, बीपीएम जितेंद्र कुमार पप्पू, संतोष कुमार,प्रवेज आलम, रंजीत भारती सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे ।

कोई टिप्पणी नहीं