रोहिणी में रथयात्रा से वातावरण माहौल हुआ भक्तिमय



नगर निगम क्षेत्र के रोहिणी  कायस्थ टोला बड़का बखरी परिसर से सोमवार को भगवान जगन्नाथ बहन सुभद्रा और भाई बलराम की रथ यात्रा पारंपरिक तरीके से खींचकर निकाला गया जिसमें कोरोना गाइड लाईन अनुपालन करते हुए रोहिणी कायस्थ टोला मुख्य मार्ग से हटिया चौक और हटिया चौक से होते हुए गांधी चौक और पांडे टोला मुख्य मार्ग होते मंदिर परिसर में पहुंची ।इस अवसर पर स्थानीय पंडितों द्वारा रथ को खींचकर भगवान जगन्नाथ से जुड़े गीत गाते हुए नगर भ्रमण कराया गया तथा श्रधालु भक्तों के द्वारा प्रसाद चढाया गया।उड़ीसा जगन्नाथ पुरी मय भले विराजे हो आदि गीतों से वातावरण भक्तिमय बना रहा। संक्रमण काल रहने के कारण रथ यात्रा में चहल पहल नहीं देखा गया सिर्फ परम्परा का निर्वहन किया गया।रथ यात्रा की दौरान हजारों की संख्या में भक्तों की भीड़ रहती थी तथा रोहिणी हाट में दर्जनों दूकाने खुलती थी लेकिन संक्रमण काल ने इसपर पानी फेर दिया तथा रथ यात्रा औपचारिकता भर बनकर रह गई। 1958 से लगातार मंदिर में पूजा कर रहे पूजक पंडित गोविन्द पाण्डेय ने विधि विधान से पूजा संपन्न कराया। पंडित गोविंद नाथ पांडे ने बताया कि 1885 ई0 से रथयात्रा कायस्थ परिवार एवं स्थानीय लोगों के सहयोग से निकाली जा रही है।  मौके पर रामानंद , सत्य नारायण पाण्डेय, ,जागेश्वर पांडे ,केशव पांडे, सुधीर पांडे, कमल राउत ,भानु उमर, कामा पांडे ,अरविंद पांडे, संतोष बर्णवाल, मनीष बर्णवाल, आत्मा राउत, समेत काफी संख्या में युवा वर्ग मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं