घर-घर जाकर मलेरिया व डेंगू रोधी जागरुकता अभियान चलाया गया।



देवघर- शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग के चारों कम्युनिटी वॉलिंटियर्स द्वारा देवघर नगर निगम के वार्ड नंबर 18 एवं 19 अंतर्गत पंडित बीएन झा पथ, विश्वनाथ मिश्र लेन, बाबा मंदिर एवं कच्ची बाड़ी, पोखना टील्हा आदि के आसपास के सभी गली-मोहल्लों में घर घर जाकर मलेरिया डेंगू रोधी जागरुकता अभियान चलाया गया। साथ ही घर-घर जाकर जलजमाव वाले कंटेनर्स एवं बेकार पड़े बर्तनों का सर्वे भी किया गया। जन समुदाय को मच्छर जनित बीमारियों के बारे में विस्तार से बताते हुए उन्हें इससे बचाव के लिए आवश्यक जानकारी दिया गया जिसमें कहा गया कि किसी भी हाल में कहीं पर भी 7 दिन से ज्यादा जलजमाव नहीं होने दे अन्यथा सप्ताह दिन के जलजमाव वाले जगह में डेंगू एवं मलेरिया के मच्छर अपने अंडे दे देती है जो बड़े होकर मलेरिया डेंगू चिकनगुनिया जिका वायरस तथा अन्य वेक्टर जनित बीमारियों को फैलाती है। "जानकारी ही बचाव है" इस बात को प्रबलता के साथ जन समुदाय को बताया गया। मच्छर से बचना ही इन बीमारियों से बचने का सरल उपाय है। अतः सभी को मच्छरदानी के अंदर सोने की सलाह दी गई। पूरे बदन को ढकने वाले कपड़े पहनने के लिए बताया गया। बगैर जाली लगे खिड़की तथा दरवाजे शाम एवं सुबह में खुले ना रखें। घर के आसपास या छत पर प्रयोग में ना आने वाले बर्तन, टायर आदि न रखें एवं घर में कूलर, बाल्टी, फूलदान, फ्रिज में पानी जमा नहीं होने दें। टूटे हुए बर्तन प्रयोग में नहीं आने वाली बोतल टिन, बेकार के टायरों को जमा ना रखें। क्योंकि बारिश के मौसम में इन्हीं में पानी जमा होता है, जिसमें एडिस मच्छर पनपते हैं इसके साथ मलेरिया के एनाफिलीज मच्छर भी पनपते हैं। बुखार होने पर तुरंत चिकित्सक से सलाह लेने के लिए भी बताया गया। कम्युनिटी वॉलिंटियर द्वारा घर-घर जाकर जलजमाव वाले पात्रों से बेकार जल को बहाकर सुखाया गया एवं प्रत्येक सप्ताह इसे सुखाने के लिए आम लोगों को प्रेरित किया गया। पीने के पानी और टंकी को ढक कर रखने के लिए भी बताया गया। आज नगर निगम से  लार्वानाशी छिड़काव कर्मियों के अन्य कामों में लगाये जाने के कारण जलजमाव वाले स्थानों में छिड़काव नहीं हो पाने के कारण आम जनता ने नाराजगी जताई और कम्युनिटी वॉलिंटियर्स को डेंगू रोधी कार्य करने में भी कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा। उक्त कार्यों का पर्यवेक्षण फाइलेरिया नियंत्रण इकाई के श्री प्रेमनाथ पांडे एवं डेगन यादव द्वारा किया गया। जिसका अनुश्रवण जिला बीबीडी सलाहकार डॉ गणेश कुमार द्वारा किया गया।  दिनांक 22 जून 2021 से 16 जूलाई 2021 तक देवघर शहरी क्षेत्रों में कुल 3414 घरों का भ्रमण करते हुए कुल 11241 जलजमाव वाले पात्रों की जांच किया गया। जिसमें से 565 घरों के कुल 1157 पात्रों में एडिस मच्छर के लार्वा तथा 615 पात्रों में इसके प्यूपा पनपते  हुए पाए गए। जिसे कम्युनिटी वॉलिंटियर द्वारा नष्ट किया गया। साथ ही कुल 1316 घरों में अन्य मच्छरों के भी लार्वा पाए गए। तथा जांच के क्रम में कुल 55 बुखार के भी रोगी मिले जिनमें से 33 लोगों का मलेरिया जांच आरडीके जांच किट द्वारा किया गया। जिसका परिणाम ऋणात्मक पाया गया।

कोई टिप्पणी नहीं