डीएवी सातर में स्वामी विवेकानंद निर्वाण दिवस पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन



देवघर।सातर रोड स्थित गीता देवी डीएवी पब्लिक स्कूल भंडारकोला ,देवघर के प्रांगण में स्वामी विवेकानंद महानिर्वाण दिवस पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ बी पी यादव ,पूर्व क्षेत्रीय निदेशक, डीएवी संस्थान , संथाल परगना प्रक्षेत्र ,झारखंड, विशिष्ट अतिथि प्रदीप भैया ,प्रतिष्ठित कथावाचक ,सेवा फाउंडेशन देवघर, भारत विकास परिषद , देवघर शाखा के पूर्व अध्यक्ष संतोष शर्मा एवं प्रो अरविंद कुमार झा,डॉ टी पी झा, प्राचार्य डीएवी पब्लिक स्कूल ,खूंटी, झारखंड,कृष्ण कुमार सिंह प्राचार्य डीएवी कास्टर टाउन एवं विद्यालय के प्राचार्य डॉ विजय कुमार ने स्वामी विवेकानंद जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम की शुरुआत की। विद्यालय के प्राचार्य ने मुख्य अतिथि सहित सभी विशिष्ट अतिथियों का पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित डॉ बी पी यादव ने कहा कि मानवता की सेवा के लिए इस धरा धाम पर अवतरित दिव्यपुरुष स्वामी विवेकानंद जी ने भारतीय संस्कृति, सनातन धर्म एवं अध्यात्म को विश्व पटल पर प्रतिस्थापित किया। उनके आदर्श एवं जीवन मूल्य हमारे जीवन में आध्यात्म एवं राष्ट्रवाद को संचारित करता है। विशिष्ट अतिथि श्री प्रदीप भैया जी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि स्वामी जी ने विश्व भर में भारत , भारतीय एवं भारतीयता को स्थापित करने का कार्य किया है। उनका वैश्विक भाईचारे एवं आत्म जागरूकता का संदेश आज भी वैश्विक राजनीतिक पटल पर प्रसांगिक है। प्राचार्य डॉ विजय कुमार ने सभा में उपस्थित सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए  कहा कि युगपुरुष स्वामी विवेकानंद वेदांत दर्शन के प्रख्यात ज्ञाता, महान समाज सुधारक, ओजस्वी वक्ता, विपुल विचारक एवं भावुक देशभक्त थे। उन्होंने सदैव युवा वर्ग को जगाने तथा उनमें आत्मसम्मान व आत्मविश्वास भरने का कार्य किया।इस अवसर पर भारत विकास परिषद की ओर से श्री संतोष शर्मा एवं प्रोफेसर अरविंद कुमार झा ने  स्वामी जी के जीवन दर्शन पर अपने वक्तव्य रखें। डॉ टी पी झा एवं कृष्ण कुमार सिंह ने भी भारतीय समाज को स्वामी जी के योगदानों से अवगत कराया। भारत विकास परिषद ,देवघर की ओर से संतोष शर्मा, प्रो अरविंद कुमार झा , पंकज सिंह भादोरिया एवं प्रदीप चौधरी ने सभा के मुख्य अतिथि ,विशिष्ट अतिथि एवं विद्यालय के प्राचार्य को अंगवस्त्र एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।विद्यालय के संगीत शिक्षक अभिषेक सूर्य एवं बी के राणा ने कई सुमधुर भजन प्रस्तुत कर सभा को संगीतमय  कर दिया। कार्यक्रम को सफल बनाने में तन्मय बनर्जी, आशुतोष कुमार, बिनोद कुमार ठाकुर, प्रशांत चक्रवर्ती, सुजीत कुमार, प्रमोद कुमार, सीमांत दत्ता, चंद्र किशोर पंडित, निरंजन कुमार सिन्हा आदि के साथ साथ शिक्षकेतर कर्मचारियों की अग्रणी भूमिका रही।

कोई टिप्पणी नहीं