इंसानियत सबसे बड़ा धर्म है. मुसीबत की घड़ी में इंसान का काम आना ही सबसे बड़ी इबादत है:-जियाउल हक



मधुपुर 14 जुलाई मधुपुर आसनसोल मुख रेल  खणड के लालगढ़ के पास एक  आदमी ट्रेन से गिरकर उनका दोनों पांव ट्रेन से कट गए थे वह दर्द से लाइन की किनारे कहरा रहे थे कई लोगों की नजर उन पर गई मगर किसी ने उनका मदद नहीं किया  इसकी खबर किसी  ने मधुपुर नगर पार्षद उपाध्यक्ष झारखंड मुक्ति मोर्चा नेता जियाउल हक को दिया। खबर मिलते ही जियाउल हक घटनास्थल पर अपने दल बल के साथ पहुंची और घायल आदमी को उठाकर सीधे अनुमंडलीय अस्पताल मधुपुर पहुंचाया जहां उनका इलाज शुरू हो गया है इसके बाद घटना की  खबर घायल युगल यादव के ससुराल वालों को दीया जहां से उनके  लोग हॉस्पिटल पहुंच गए और उनका देख रेख करना शुरु कर दिया ऐसे मुसीबत घड़ी में जियाउल हक की मदद का शुक्रिया अदा किया जिन्होंने घायल युगल यादव को जान बचाने में बहुत बड़ा  अपना योगदान दिया जिनके कारण आज युगल हॉस्पिटल तक पहुंचा और हम लोगों तक खबर किया गया है इसके लिए जियाउल भाई को दिल की गहराइयों से शुक्रिया अदा करता हूवही जियाउल हक  टारजन ने कहा इंसानियत सबसे बड़ा धर्म है इंसान का मुसीबत में उनके दुख दर्द में शामिल होना ही सबसे बड़ी इबादत और धर्म होता है जब तक इंसानियत जिंदा है यह दुनिया कायम है इंसानियत जिंदा रखना हम सबका धर्म है इसीलिए मैं तमाम लोगों से अपील करता हूं कि सबसे पहले मुसीबत के घड़ी में इंसानों को मदद करें !बताया जाता है कि जिस आदमी का ट्रेन से गिरकर पावा कट गया है  वह मथुरापुर का रहने वाला है जिसका नाम युगल यादव है उनका ससुराल मधुपुर चुहिटिया है घटना की खबर उनके सुसराल वाले को मिल गया है सभी लोगों पहुंच चुके हैं वही अनुमंडलीय अस्पताल के उपाधीक्षक डॉक्टर मोहम्मद शाहिद ने बताया कि उनका दोनों पैर  कट गया  गया है और उसका दोनों पैर की सर्जरी करना होगा।वहीं घायल युवक का प्राथमिक उपचार करने के बाद  बेहतर इलाज के लिए देवघर सदर अस्पताल भेज दिया गया है!

कोई टिप्पणी नहीं