बाबा मंदिर में प्रवेश निषेध के दौरान सौंदर्यीकरण कार्य किया जाएगा।



देवघरः गुरुवार को उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में पंडा धर्मरक्षिणी सभा के अध्यक्ष, सदस्य एवं तीर्थ-पुरोहितों समाज के प्रतिनिधियों के साथ बाबा बैद्यनाथ मंदिर से जुड़े विभिन्न बिंदुओ पर विस्तृत चर्चा की गई। इस दौरान उपायुक्त ने कोरोना संक्रमण को लेकर श्रद्धालुओं हेतु मंदिर में प्रवेश प्रतिबंधित होने की स्थिति को देखते हुए मंदिर प्रांगण व आसपास के क्षेत्रों में सौंदर्यीकरण और मरम्मती से जुड़े कार्यों को करने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया।

इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गई कि बाबा मंदिर बन्द रहने से हो रही परेशानियों और आर्थिक सहायता को लेकर सरकार आवश्यक कदम उठा रही है। इसको लेकर जल्द ही जिला प्रशासन द्वारा आवश्यक कार्य किया जाएगा। साथ ही उन्होंने तीर्थ-पुरोहित समाज के प्रतिनिधियों को आश्वस्त करते हुए कहा की तमाम परिस्थितियों को देखते हुए सहायत हेतु हर संभव प्रयास किया जाएगा। साथ ही बैठक के दौरान उपायुक्त द्वारा संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि मंदिर के गर्भगृह से ऑनलाइन पूजा के अलावा किसी भी प्रकार के फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी न हो इसे पूर्ण रूप से सुनिश्चित किया जा सके। इसके अलावे बैठक के पश्चात उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने सभी का आभार प्रकट करते हुए कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के दौरान अब तक जिस प्रकार आप सभी ने जिला प्रशासन का सहयोग किया है को वाकई काबिले तारीफ और सराहनीय है और हमें आगे भी पूर्ण भरोसा है कि सभी का सहयोग इसी प्रकार मिलता रहेगा।

इस दौरान बैठक में उपरोक्त के अलावे अपर समाहर्त्ता चन्द्रभूषण प्रसाद सिंह, अनुमंडल पदाधिकारी-सह-प्रभारी पदाधिकारी बाबा बैद्यनाथ मंदिर, देवघर दिनेश कुमार यादव, प्रशिक्षु आई.ए.एस अनिकेत सच्चान, गोपनीय प्रभारी  विवेक मेहता, जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी एबी राॅय, सरदार पंडा के प्रतिनिधि, अध्यक्ष पंडा धर्मरक्षिणी सभा सुरेश भारद्वाज, सचिव अखिल भारतीय तीर्थ पुरोहित महासभा दुर्लभ मिश्र, मुख्य प्रबंधक बाबा बैद्यनाथ मंदिर के साथ-साथ संबंधित विभाग के अधिकारी व कर्मी आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं