जन वितरण प्रणाली की दुकान में खराब चावल की जांच करने डीजीएम पहुंचे देवघर, एरिया मैनेजर उन्हें संताल पुराना के टूर पर लेकर चले गये



देवघर जिले के जन वितरण प्रणाली की दुकानों में लाभुकों के लिए उपलब्ध कराए गये चावल की क्वालिटी घटिया है. टूटा हुआ दानों के साथ भकुडिया किस्म का चावल लाभुकों को दिया जा रहा है. लाभुकों के द्वारा शिकायत किए जाने के बाद भी इस पर अंकुश नहीं लगाया जा रहा है. क्योंकि बिचौलियों के गठजोड़ के आगे यहां किसी की नहीं चलती है. सन्मार्ग अखबार के माध्यम से लगातार खबर प्रकाशित होने के बाद एफसीआई रांची के डीजीएम देवघर एवं मधुपुर के गोदामों की जांच करने के लिए बुधवार की रात देवघर पहुंचे. विश्वास सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार स्थानीय होटल में रात्रि विश्राम करने के बाद एरिया मैनेजर हरि सिंह मीणा पाकुड़ में निर्माणाधीन गोदाम का निरीक्षण के लिए लेकर चले गये. खबर यह है कि शुक्रवार को उन्हें एरिया मैनेजर दुमका निरीक्षण के लिए लेकर जायेंगे. संभावना है कि शनिवार को देवघर के गोदाम का निरीक्षण करा कर उन्हें वापस रांची भेज दे. जिन मामलों की जांच करने के लिए दीजिए देवघर पहुंचे हैं. उस पर पूरी तरह से लीपापोती की फुलप्रूफ तैयारी की गई है. ताकि किसी भी स्तर पर विभाग के अधिकारी के सामने खाद्यान्न की हकीकत नहीं आ पाये. इससे पहले डीसी सह जिला दंडाधिकारी देवघर मंजूनाथ भजंत्री द्वारा पूरा मामला संज्ञान में आने के बाद एरिया मैनेजर हरि सिंह मीणा को जांच कर रिपोर्ट मांगा था. लेकिन इसकी जांच अब तक नहीं की गई ना ही कोई रिपोर्ट सौंपा गया है. राज्य मुख्यालय को पूरे मामले की जानकारी होने के बाद डीजीएम पूरे मामले की धरातलीय सच्चाई जानने के लिए देवघर आने का फैसला किया था. लेकिन देवघर में पूरे मामले को रफा-दफा करने का फुल प्रूफ तैयारी कर ली गई है. इसलिए आईवाश एक्शन के तहत यह सब किया जा रहा है.  कोई जांच टीम अभी तक आई नहीं है, और आगे भी अभी आने की कोई संभावना नहीं है. अभी गोडाउन में बोरिया की गिनती हो रही है. कितनी कम है यह गिनती होने के बाद ही आगे कोई जांच टीम आएगी.

कोई टिप्पणी नहीं