पीएम कृषि सम्मान निधि के लाभुकों को केसीसी से जोड़ने के लिए बीडीओ ने की बीएलबीसी की बैठक



सारठ : शनिवार को प्रखंड सभागार में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभुकों को किसान क्रेडिट कार्ड से जोड़ने के लिए बीडीओ साकेत कुमार सिन्हा ने प्रखंड स्तरीय बैंकर्स समिति की की बैठक की। बैठक के दौरान प्रभारी बीटीएम धर्मेन्द्र कुमार ने बताया कि सारठ में हाल ही में मिली सूची के अनुसार कुल 32461 प्रधानमंत्री कृषि सम्मान निधि के लाभुक है जिसमे बैंकों से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार  22807 किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड से जोड़ा जा चुका है, जबकि प्रखंड के 9654 पीएम सम्मान निधि के लाभुक को केसीसी से जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। बैठक के दौरान बैंक के अधिकारियों द्वारा किसानों से एलपीसी एवं  लगान रसीद की मांग की गई। जबकि प्रधानमंत्री के निर्देशानुसार एक लाख रुपये तक के केसीसी पर एलपीसी की कोई आवश्यकता नहीं है। इसके बावजूद बैंकों द्वारा एलपीसी की माँग की जा रही है। बैठक में प्रभारी अंचल निरीक्षक अक्षय कुमार सिन्हा ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकतर संयुक्त भूमि है, जिसके चलते एलपीसी निर्गत नहीं किया जा सकता, इसलिए बिना एलपीसी का किसानों को केसीसी से जोड़ने का विकल्प निकाला जाना चाहिए। वहीं केसीसी के आवेदन में ही राजस्व कर्मचारी के द्वारा भूमि का रिपोर्ट करा दिया जायेगा। जिस आधार पर किसानों को केसीसी से जोड़ा जा सकता है। बैठक में कई तरह की चर्चा के बाद बैंक  कर्मचारियों ने भी सहमति जताई। वहीं बैंक अधिकारियों ने बताया कि एक ही परिवार के 4 से 5 सदस्यों को प्रधानमंत्री कृषि सम्मान निधि योजना का लाभ मिल रहा है ।ऐसे में एक ही परिवार के कई सदस्यों को केसीसी का लाभ कैसे दिया जा सकता है। जबकि सरकार खुद एक परिवार से एक ही सदस्यों को कृषि ऋण माफी का लाभ दे रही है। एक तरफ सरकार पीएम सम्मान निधि के सभी लाभुकों को केसीसी से जोड़ने की बात कह रही  है। वहीं दूसरी ओर कृषि विभाग और बैंकों के समक्ष कई तरह की समस्याएं आ रही है। बैठक के सभी बैंकों के अधिकारी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं