संपूर्ण झारखंड के बीएड के छात्र राँची में शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन करने हेतु रवाना।



देवघर- 15 जुलाई को संपूर्ण झारखंड  के वीएड . के छात्र - छात्राएं अपनी मांग को  लेकर राँची  में शांतिपूर्ण तरीके से धरना प्रदर्शन  करने जा रहे है।   वीएड. सत्र 2020-22 के  70%   छात्र- छात्राएं  जो छात्रवृत्ति से वंचित  है वो अपनी मांग   मुख्यमंत्री  हेमंत सोरेन जी  एवं कल्याण मंत्री के  समक्ष अपनी बातों को रखेंगे आग्रह   कर के ई - कल्याण पोर्टल को फिर से खुलवाने के लिए बातों को रखेंगे अगर बात नहीं मानी गई तो अनिश्चित  कालीन धरना प्रदर्शन करने के लिए  छात्र सभी सहपाठीगण  रांची जा रहे है। वीएड. की नामांकन की लंबी प्रक्रिया  के कारण राज्य के लगभग 4 हजार-5 हजार योग्य   छात्र छात्रवृति से वंचित रह गये। छात्र लोगो ने अपनी बात सरकार तक पहुँचाने के लिए सोशल मिडिया, पत्राचार मुहिम के मध्यम का सहारा लिया तथा  राज्य के सभी विधायकों को अपना मांग पत्र सौंपा बावजूद इसके सरकार  ने हमारी एक नहीं सुनी  और पोर्टल अभी तक नहीं खोला गया।    गत वर्ष ई - कल्याण पोर्टल 75 दिनों के लिए खुला रखा जाता था। लेकिन इस वर्ष 35 दिनों में ही बंद कर दिया गया। जिस वजह से हम सभी एससी ,एसटी, ओबीसी ,के  बच्चे  छात्रवृत्ति से वंचित रह गये। कोरोना महामारी की वजह से हमलोगों की आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो गयी है जिस वजह से वीएड.का 1.5 लाख से  2 लाख तक की मोटी रकम भर पाना बहुत मुश्किल है।  अगर सरकार हमारी माँग पूरी नहीं करती है हमें छात्रवृत्ति नहीं देती है तो हमें विवश होकर अपनी पढाई बीच में ही छोड़नी पड़ जायेगी।

कोई टिप्पणी नहीं