घोलजोड़ में बंदर के मृत शरीर को ग्रामीणों ने समाधि दी। मंदिर निर्माण कार्य किया शुभारंभ।



नाला (जामताड़ा)-- घोलजोड़ में बंदर(हनुमान) के मृत शरीर को ग्रामीणों ने मिलकर समाधि दी। मालूम हो कि पिछले दिन एक बंदर बीमार से ग्रसित था, ग्रामीणों के प्रयास से उसे पशु चिकित्सा उपलब्ध करवाई गई, काफी सेवा -सुश्रुषा की गई उसके बावजूद भी उक्त बंदर का निधन शुक्रवार देर रात को हो गई। ग्रामीणों ने मानवता का परिचय देते हुए और आस्था प्रकट करते हुए उक्त बंदर के मृत शरीर को विधि-विधान पूर्वक समाधि दी साथ ही खिचड़ी प्रसाद वितरण कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया वहीं उक्त समाधि स्थल पर ग्रामीणों ने मिलकर मंदिर निर्माण कार्यक्रम का भी शुभारंभ कर दिया। इस अवसर पर सैकड़ों श्रद्धालुओं ने खिचड़ी प्रसाद ग्रहण किया। इस कार्यक्रम में बापी गायन, श्यामल बाद्यकर, वरुण माजी ,आयेन माजी, मिलन अधिकारी ,डमरु मिर्धा ,गंगाधर मोहली, सुब्रत माजी, नंदलाल मिर्धा ,,जगतमय माजी,लव माजी,आदि भक्तों ने मिलकर मंदिर निर्माण कार्य का बीड़ा उठाया है।

कोई टिप्पणी नहीं