डीएवी पब्लिक स्कूल कास्टर टाउन, देवघर में ' वर्षा ऋतु महोत्सव ' का आयोजन



देवघर।08 को स्थानीय गीता देवी डीएवी पब्लिक स्कूल कास्टर टाउन, देवघर में सामाजिक दूरी का पालन करते हुए वर्षा ऋतु महोत्सव का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि डॉ. आनंद तिवारी वरीय कृषि वैज्ञानिक 'सुजानी' देवघर विशिष्ट अतिथि डॉ. राजन ओझा एवं डॉ. विवेक काश्यप कृषि वैज्ञानिक 'सुजानी' देवघर तथा डॉ. विजय कुमार प्राचार्य डीएवी पब्लिक स्कूल भंडारकोला, देवघर का स्वागत आतिथ्य तिलक, आरती, मंत्रोच्चारण एवं स्वागत गीत के द्वारा किया गया। तत्पश्चात प्राचार्य श्री कृष्ण कुमार सिंह ने आए हुए अतिथियों का स्वागत पुष्प गुच्छ प्रदान कर किया। कार्यक्रम का प्रारंभ अतिथियों एवं प्राचार्य के द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया।मुख्य अतिथि डॉ .आनंद तिवारी ने कहा कि इस विद्यालय ने कृषि की महत्ता व वर्षा ऋतु पर यह कार्यक्रम करवाया ये बच्चों के लिए गर्व की बात है। किसानों के लिए वर्षा वरदान है ! किसानों को भगवान कहते हुए उनकी महिमा का बखान प्रस्तुत किए। वही डॉक्टर राजन ओझा ने कहा कि कृषि संबंधित जानकारी बच्चों को अवश्य मिलनी चाहिए । वर्षा के महत्व एवं पानी को बर्बाद होने से बचाव हेतु आवश्यक सुझाव भी दिए। डॉ. विवेक काश्यप ने शिक्षकों एवं छात्रों के पारस्परिक संबंध को गौरवपूर्ण बताया। जल शक्ति अभियान से परिचय करवाया और पेड़-  पौधे का संरक्षण हेतु कई महत्वपूर्ण सुझाव दिए। डॉ. विजय कुमार प्राचार्य सह प्रबंधक ने कहा कि वर्षा ऋतु खेती के लिए बड़ी ही उपयोगी है। वर्षा के अभाव में पूरा विश्व में सूखा पड़ जाएगा और लोग भूखे मरने लगेंगे। सभी वर्षा का मजा लें और पानी को एकत्र कर सबकी भलाई करें ।सातवीं की छात्रा शांभवी के द्वारा नृत्य की प्रस्तुति की गई तथा संस्कृति शर्मा व आराध्या प्रिया के द्वारा वर्षा ऋतु के महत्व पर भाषण प्रस्तुत किया गया।साथ ही वर्षा ऋतु साप्ताहिक समारोह के अवसर पर विभिन्न प्रतियोगिताओं का ऑनलाइन आयोजन किया गया। जिसमें वर्ग प्रथम एवं द्वितीय के लिए वर्षा ऋतु से संबंधित कविता पर सस्वर पाठ करते हुए वीडियो निर्माण प्रतियोगिता तृतीय व चतुर्थ के लिए वर्षा को दिखाते हुए चित्र बनाना पाँचवीं एवं छठी के लिए वर्षा के साथ खेतों में धान के पौधे का चित्रांकन करना तथा सातवीं के लिए बारिश में बैलों से खेत जोतते हुए किसान का चित्र बनाना जैसी प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।जिसका मुख्य उद्देश्य हमारे प्राचीन एवं ग्रामीण परिवेश से बच्चों को अवगत कराना, वर्षा ऋतु के महत्व तथा हमारे देश के किसानों के प्रति सम्मान की भावना जागृत करना था।निर्णायक की भूमिका में शामिल कुसुम ,पूजा झा , रंजना पाठक तथा राज गौरव ने कहा कि इस प्रकार की प्रतियोगिताओं से बच्चों का आत्मविश्वास एवं उत्साह बढ़ता है तथा बच्चे खाली समय का सदुपयोग करते हैं।सस्वर कविता पाठ प्रतियोगिता के लिए रूही सुधांकर ,आरूषि शर्मा व समर प्रताप सिंह को प्रथम अर्ना चक्रवर्ती ,शुभंकर प्रसाद व प्रणया मिश्रा को द्वितीय अदिति आर्या ,अंकु रानी व रीति शुक्ला को तृतीय तथा आर्या सुमन ,वंशिका यादव व श्रद्धा वैशाली को सांत्वना पुरस्कार दिया गया वहीं वर्षा ऋतु पर चित्रांकन प्रतियोगिता के लिए और असीमा श्रीवास्तव को प्रथम श्रेया मुखर्जी को द्वितीय समृद्धि सिन्हा को तृतीय तथा लावण्या भूषण को सांत्वना पुरस्कार मिला। खेतों में धान के पौधे का चित्रांकन प्रतियोगिता के लिए अंकित कुमार मंडल,अपेक्षा आर्या व पीहू गुप्ता को प्रथम गुरु ओम कांत सिंह ,समीक्षा, कुमारी चंद्रप्रभा व शुभम कुमार को द्वितीय अक्ष मिश्रा, सिमल काश्यप , सांची व अंकिता कुमारी को तृतीय तथा अंशु प्रिया, रिचा आर्या,श्रेया कुमारी व अंजलि को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। बारिश में बैलों से खेत जोतते हुए किसान का चित्रांकन प्रतियोगिता के लिए सक्षम सिन्हा को प्रथम सानिका सिंह को द्वितीय सृष्टि कुमारी को तृतीय तथा प्राची सिंह को सांत्वना पुरस्कार से संतोष करना पड़ा। इस कार्यक्रम में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले बच्चों को अतिथियों एवं प्राचार्य के द्वारा ट्रॉफी प्रदान किया गया।इस मौके पर विद्यालय के प्राचार्य श्री कृष्ण कुमार सिंह ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को हार्दिक शुभकामनाएं दी ।साथ ही उन्होंने कहा कि वर्षा ऋतु आते ही लोगों में खुशियों का संचार हो जाता है ।यह ऋतु सिर्फ गर्मी से ही राहत नहीं देती बल्कि खेती के लिए वरदान है ।इंसानों के साथ ही पेड़-पौधे पशु-पक्षी सभी उत्सुकता के साथ इसका इंतजार करते हैं। चारों ओर हरियाली छा जाती है और वातावरण खुशनुमा हो जाता है। प्रकृति का सौंदर्य कई गुना बढ़ जाता है। उन्होंने कहा कि हमारे ये बच्चे बारिश की बूंदों के बीच इंद्रधनुष के समान हैं और कृषि के क्षेत्र में भी बच्चों की सफलता की अपार संभावनाएं हैं।कार्यक्रम का समापन दिलीप कुमार सिंह के धन्यवाद ज्ञापन तथा शांति पाठ के द्वारा किया गया।इस कार्यक्रम को सफल बनाने में विद्यालय के सभी शिक्षकों एवं शिक्षिकाओं की अहम भूमिका रही। उक्त बातों की जानकारी मीडिया प्रभारी अमित कुमार सिंह ने दी।

कोई टिप्पणी नहीं