डीएवी कास्टर टाउन, देवघर में मनाया गया वन महोत्सव



देवघर।गीता देवी डीएवी पब्लिक स्कूल कास्टर टाउन, देवघर में मुख्य अतिथि वी. बास्करन( आई. एफ. एस ) डिस्ट्रिक्ट फारेस्ट ऑफिसर, सामाजिक वानिकी देवघर एवं विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर रामनंदन सिंह, पूर्व हेड ऑफ द डिपार्टमेंट ऑफ इकोनॉमिक्स , देवघर कॉलेज देवघर, की गरिमामयी उपस्थिति में सामाजिक दूरी का पालन करते हुए वन महोत्सव का आयोजन किया गया।आए हुए अतिथियों का स्वागत तिलक, आरती तथा पुष्प गुच्छ प्रदान कर किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत अतिथियों एवं प्राचार्य के द्वारा सम्मिलित रूप से दीप प्रज्वलित कर किया गया। मुख्य अतिथि श्री वी.बास्करन ने पर्यावरण संरक्षण हेतु वृक्षारोपण की महत्ता पर प्रकाश डाला एवं मौजूदा परिप्रेक्ष्य में ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए अधिक मात्रा में वृक्ष लगाने के लिए आग्रह किया। साथ ही साथ उन्होंने वृक्षारोपण और वैज्ञानिक तौर तरीके से उन लगाए गए पौधों का देख रेख करने के बारे में प्रकाश डाला। उन्होंने स्कूल को सभी आवश्यक सुविधा उपलब्ध करा कर वन महोत्सव को भविष्य में अभूतपूर्व सफल बनाने का आश्वासन भी दिया। वातावरण में वायु प्रदूषण एवं जल प्रदूषण को कम करने के विभिन्न तरीकों से अवगत भी कराया।प्रोफेसर रामनंदन सिंह ने कहा कि वातावरण प्रदूषित होने के कारण इस संसार में अनेक जीव विलुप्त होने के कगार पर खड़े हैं। अतः इस दिशा में लोगों से पर्यावरण संरक्षण हेतु कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर प्रकाश डाला।वहीं 12 जुलाई से 19 जुलाई तक चलने वाले वन महोत्सव सप्ताह के अवसर पर छात्रों के बीच विभिन्न प्रतियोगिताओं का ऑनलाइन आयोजन किया गया। वर्ग एल.के.जी से द्वितीय तक के बच्चों के लिए जंगल का महत्व और वृक्षारोपण पर कविता पाठ करते हुए वीडियो निर्माण प्रतियोगिता वर्ग तीसरी से पाँचवीं के लिए पेड़ों के महत्व से जुड़ी कहानी कहने की वीडियो निर्माण प्रतियोगिता हिंदी व अंग्रेजी में तथा छठी और सातवीं के लिए चिपको आंदोलन विषय पर नाटकीकरण का वीडियो बनाना और वन महोत्सव एवं पर्यावरण संरक्षण विषय पर क्विज प्रतियोगिता आयोजित की गई। इन प्रतियोगिताओं में बच्चों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया।साथ ही अतिथियों एवं प्राचार्य के द्वारा विद्यालय प्रांगण में कई छायादार,फलदार एवं औषधीय पौधे लगाए गए तथा इन प्रतियोगिताओं में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले बच्चों को ट्रॉफी भी दिया गया। क्विज प्रतियोगिता में क्विज मास्टर की भूमिका में स्वयं विद्यालय के प्राचार्य श्री कृष्ण कुमार सिंह थे। कविता पाठ प्रतियोगिता के लिए समर प्रताप सिंह व आरुषि शर्मा को प्रथम मंदिरा मुखर्जी व हृदांश को द्वितीय शुभंकर प्रसाद व श्रद्धा वैशाली को तृतीय तथा प्रणया मिश्रा व आरुषि भारती को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। वहीं कहानी(हिन्दी में) कहने की प्रतियोगिता के लिए यशवर्धन पाठक व अवेद्या को प्रथम अभिनव सिंह व अंशु दुबे को द्वितीय  वैभव वरुण व तेजस तमोघन को तृतीय तथा कौशकिति व शिवम कुमार को सांत्वना पुरस्कार मिला। कहानी (अंग्रेजी में )कहने की प्रतियोगिता के लिए प्रज्ञा मिश्रा व नव्या कुमारी श्रीवास्तव को प्रथम अष्टमी मोलिका व आशिमा श्रीवास्तव को द्वितीय वर्णिका कुमारी व लावण्या भूषण को तृतीय तथा अक्ष मिश्रा व आरव कुमार साह को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। चिपको आंदोलन पर नाटकीकरण प्रतियोगिता के लिए आराध्या प्रिया व शांभवी सिंह को प्रथम अपेक्षा आर्या, हरिओम व सृष्टि कुमारी को द्वितीय गुरु ओम कांत सिंह, सिमल काश्यप व पायल कुमारी को तृतीय तथा आदर्श कात्यायन को सांत्वना पुरस्कार मिला। क्विज प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले बच्चों में आराध्या प्रिया, पल्लवी राज व अपेक्षा आर्या अव्वल रही।इस मौके पर विद्यालय के प्राचार्य श्री कृष्ण कुमार सिंह ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को हार्दिक शुभकामनाएँ दी। साथ ही उन्होंने कहा कि वन महोत्सव सप्ताह भारत में लोगों को अधिक से अधिक पेड़ लगाने के लिए प्रोत्साहित करने हेतु मनाया जाता है ।पेड़ ग्लोबल वार्मिंग को रोकने और प्रदूषण को कम करने में मदद करते हैं। पेड़ हमें फल, फूल, छाया, लकड़ी व औषधि देते हैं ।ये प्राणवायु और जीवनदायिनी शक्ति देकर हमें उपकृत करते हैं ।अंत में उन्होंने बच्चों को वृक्षारोपण एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रेरित भी किया।इस कार्यक्रम को सफल बनाने में धीरज कुमार, सुषमा शर्मा, पूनम कुमारी ,सर्वेश्वर पांडेय, रंजना पाठक, दिलीप कुमार सिंह, रामनाथ प्रसाद ,विश्व रंजन झा, केशव कुमार, सारिका कुमारी, बी.एन. रमन,वेद प्रकाश ,उज्ज्वल कुमार सिंह, अनुराधा बाजला, शिवानी बनिक, पूजा झा, एवं गोपाल झा का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

कोई टिप्पणी नहीं