बारिश नहीं होने से किसानों में छाया मायूसी , जगह जगह गांवों में की जा रही है हरिनाम संकीर्तन



पालोजोरी (कुमार आस्तिक गिरि) :- जहां देश एक तरफ कोरोना महामारी जैसे बिमारी से जूझ रहे हैं। साथ ही इन दिनों देश लॉकडाउन जैसे समस्याओं से भी किसानों को जूझना पड़ रहा है। वहीं इस बार किसानों ने अच्छी फसल होने को लेकर अपने खेतों में सेठ रसूखदार जैसे लोगों से खेती करने के एवज में उनसे कर्ज़ लेकर बिज बोने का काम तो किया लेकिन भगवान की माया के आगे किसी का भी नहीं चला है आजतक जो इन दिनों किसानों की हालात काफी मायूसी सा छाया हुआ है। बताया जाता है की इस बार चक्रवाती तूफान के दौरान ही जो सामान्य मात्रा में बारिश हुई। उसके बाद आज तक बारिश की आस लगाए बैठे हैं। वहीं किसान दिलीप कुमार गोस्वामी ने कहा की यदि इस बार की खेती सही समय पर नहीं हो पाई तो सेठ रसूखदार जैसे लोगों से किसानों ने खाद बीज को लेकर जो कर्ज़ लिया गया है। उन्हें उनके ब्याज सहित मूलधन जैसे रकम को लोटाने में असमर्थ महसूस करेंगे। साथ ही किसानों ने कहा की जगह जगह पर हरिनाम संकीर्तन किया जा रहा है। जिससे भगवान इन्द्र देव को खुश कर उनको आराधना करते हुए गांवों में 24 पहर हरिनाम संकीर्तन का आयोजन किया जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं