कांग्रेस ने राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस मनाते हुए आउटरीच अभियान को लेकर किया प्रेस कॉन्फ्रेंस।



देवघर- भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राष्ट्रव्यापी आउटरीच अभियान को लेकर देवघर कांग्रेस कार्यालय में संथाल परगना के जोनल कोऑर्डिनेटर सुल्तान अहमद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बताया कि विश्व के साथ हमारा देश भी कोरोना महामारी जैसे आपदा के चपेट में आने से कई लोगों की जानें चली गईं। जिसमें से हमारे कोरोना वॉरियर्स के रूप में डॉक्टर्स, नर्स, स्वास्थ्य कर्मी, पुलिसकर्मी आदि भी शामिल हैं। इस महामारी में कई लोगों को अपनी आजीविका एवं नौकरियों से भी हाथ धोना पड़ा। कोरोना महामारी से लाखों लोग ग्रसित होकर जूझते-जूझते अपनी जान बचा तो पाए, पर उनका अर्थव्यवस्था, कारोबार, रोजगार सब चौपट हो गया। कोविड-19 महामारी राष्ट्रीय आपदा है, जिसे केंद्र सरकार ने स्वीकार किया है। ऐसे में केन्द्र सरकार को सभी पिड़ित लोगों को राष्ट्रीय आपदा कानून 2005 के तहत मुआवजा देनी चाहिए। परंतु केंद्र सरकार की मंशा कुछ और ही दिख रही है। ऐसे में राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के आह्वान एवं उनके निर्देश पर देश के सभी कांग्रेस जन उन पीड़ित परिवारों, जिनकी कोरोना काल में मृत्यु हो गई है या वायरस से ग्रस्त हो गए थे, अथवा कोरोना के कारण नौकरी व रोजगार गंवानी पड़ी, सबों का डाटा एकत्र करने के लिए राष्ट्रव्यापी आउटरीच अभियान के तहत घर-घर पहुंचने का निर्णय लिया गया है। इस कार्यक्रम के तहत हर प्रखंड व नगर में 10 सदस्यीय कोरोना योद्धाओं की कमिटी बनाई जाएगी जो पूरे 30 दिन के अंदर हर एक सदस्य प्रतिदिन दो सौ घरों में जाकर लक्ष्य समूह के साथ सर्वे कर डाटा एकत्रित करेंगें और क्रमवार प्रखंड, जिला, राज्य कमिटी के माध्यम से ए.आई.सी.सी. नियंत्रण कक्ष दिल्ली को भेजा जाएगा। सर्वे के दौरान फॉर्म भरकर उस परिवार को एक पावती पर्ची भी दी जाएगी। कार्यक्रम तहत शहरी, अर्ध शहरी एवं ग्रामीण इलाके के 5 सदस्यों का एक लक्ष्य समूह बनाए जाएंगें। जिनमें से शहरी व अर्ध शहरी क्षेत्र में ऑटो(बैटरी), साइकिल, रिक्शा चालक, पलंबर,बिजली मिस्त्री, माली, मैकेनिक, घरेलू कामगार, झुग्गी- झोपड़ी में रहने वाले,डिलीवरी बॉय और स्ट्रीट वेंडर (रेहड़ी,पेट्री, ठेला खोमचा वाला) तथा ग्रामीण क्षेत्र में किसान, कृषि श्रमिक(खेत मजदूर) मजदूर, रेहड़ी पत्र, ठेला-खोमचा वाला, कारीगर(हथकरघा),धोबी, लोहार, बुनकर,कुम्हार, राजमिस्त्री, बढ़ाई व स्कूल शिक्षक आदि समुदाय से होगा। डाटा प्राप्त करने के उपरांत कोरोना महामारी के दौरान जिनकी मौत हो गई है उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष तथा प्रदेश अध्यक्ष द्वारा उनके परिजनों को शोक पत्र भी प्रेषित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में कांग्रेस पार्टी के क्षेत्रीय सांसद, विधायक, पूर्व सांसद, विधायक, लोकसभा या विधानसभा चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के द्वारा बैठकें आयोजित कर चिन्हित किए गए प्रखंड एवं नगर क्षेत्र के कोविड योद्धाओं को संबोधित करते हुए उन्हें प्रेरित एवं सम्मानित भी करेंगें। इस आपदा में भारतीय जनता पार्टी को एवं इस पार्टी के केंद्र सरकार की नाकामी भी आपने देखा ही होगा जो इस महामारी में किस कदर विफल साबित हुए। उसे भी इस कार्यक्रम तहत जन-जन तक पहूंचाया जाएगा। आउटरीच अभियान के तहत सरकार द्वारा अनुमोदित मेडिसिन कीट, मास्क, सैनिटाइजर, साबुन, अत्यंत कमजोर परिवारों के लिए राशन एवं टीकाकरण के लिए लोगों का पंजीकरण कराने में सहायता भी की जाएगी।

तदुपरांत राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस के अवसर पर जिले में पार्टी के दो डॉक्टर डॉ गौरव एवं डॉ अनूप को इस करोना काल में किए गए कर्तव्य एवं दायित्व के लिए उन्हें पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित किया गया तथा देश के तमाम डॉक्टर्स, नर्स एवं स्वास्थ्य कर्मियों को इस विपदा की घड़ी में किए गए कार्य के लिए उन्हें नमन किया। साथ ही प्रमुख कार्यकर्ताओं के साथ पार्टी कार्यालय में आगामी देवघर नगर निगम के चुनाव की एक समीक्षात्मक बैठक भी की गई तथा पार्टी के उम्मीदवार के जीत के लिए रणनीति तैयार किया गया। इस मौके पर जिला अध्यक्ष मुन्नम संजय, पूर्व जिलाध्यक्ष राजेंद्र दास,वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रो. उदय प्रकाश, सेवादल के अजय कुमार, मीडिया प्रभारी दिनेश कुमार मंडल, डॉ गौरव,डॉ अनूप, नगर अध्यक्ष रवि केसरी, सोशल मीडिया संयोजक अमित पांडेय,एनएसयूआई के रवि वर्मा, अर्जुन राउत, महिला नेत्री नाहिदा सुल्तान, सूरज जा, दीपक सिंह राजपूत,अशोक वर्मा,धर्मेंद्र कुमार सिंह, वशिष्ठ राणा, रोशन राज, अमोल राज, गोलू सिंह, अनिरुद्ध चौबे, अक्षय कुमार सिंह आदि मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं