राष्ट्रीय सेवा योजना, इकाई 5 द्वारा लगाया गया सात दिवसीय विशेष शिविर के तीसरे दिन प्राणायाम करके किया गया



देवघर।ए एस महाविद्यालय देवघर की राष्ट्रीय सेवा योजना, इकाई 5 द्वारा लगाया जा रहे सात दिवसीय विशेष शिविर के तीसरे दिन की दिनचर्या की शुरुआत प्रातः 6:00 योग एवं प्राणायाम करके किया गया । एनएसएस की पूर्व वॉलिंटियर्स एवं वर्तमान में बैंक ऑफ इंडिया में कार्यरत सुश्री प्रीत भारती ने स्वयंसेवकों को अपने प्रेरक वक्तव्य से अभिभूत किया। स्वयंसेवकों के बीच महाविद्यालय में आशु रचना प्रतियोगिता का आयोजन किया गया  । इस कार्यक्रम में अचानक दिए गए विभिन्न विषयों पर स्वयंसेवकों ने अपने वक्तव्य प्रस्तुत किए।  प्रतियोगिता में अतुल कुमार ने प्रथम स्थान ,लॉरेंस सोरेन ने द्वितीय स्थान और पल्लवी भारती ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।दोपहर 3:00 से 4:00 बजे बौद्धिक सत्र में  श्री सुनील मणि त्रिपाठी, जिला शहरी स्वास्थ्य प्रबंधक एवं डॉ मनोज कुमार मंडल ,आयुष चिकित्सा पदाधिकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र देवीपुर ने अपने प्रेरक वक्तव्य से स्वयं सेवकों को दिशा निर्देश प्रदान किया। श्री सुनील मणि त्रिपाठी ने कहा कि युवाओं को अपना लक्ष्य निर्धारित करके उस पर निरंतर चलते रहना चाहिए ताकि आने वाले दिनों में समाज के प्रति अपने दायित्व को भी निर्धारित कर सकें। श्री मनोज कुमार मंडल ने बतलाया कि अपने लक्ष्य को निर्धारित करते समय अपनी योग्यता और क्षमता दोनों पर ध्यान देना अति आवश्यक है ताकि अपने पूरे प्रयास से अपने निर्धारित लक्ष्य तक निश्चित रूप से हम पहुंच सके।मौके पर,शिविर निदेशक सह कार्यक्रम पदाधिकारी श्रीमती भारती प्रसाद ने बताया कि सात दिवसीय शिविर का तीसरा दिन भारी बारिश के बावजूद अपनी समयबद्ध दिनचर्या के साथ सुचारू पूर्वक निर्वाहित की गई। आशु रचना प्रतियोगिता एवं बौद्धिक शिविर 

के आयोजन एक ओर जहां  स्वयंसेवकों में उत्साह ज्ञान एवं भविष्य के प्रति निश्चिता प्रदान  करेगा वही समाज के प्रति उनके दायित्व को भी निश्चित करेगा। मंच संचालन राष्ट्रपति अवॉर्डी  राजेन्द्र कुमार ने किया।मौक़े पर भवदीय मौक़े पर जितेंद्र, अतुल, युवराज, प्रगति, कृष्णा,बादल, पल्लवी,संदली,पंकज, लवली,अंकित, अनमोल, अंजली, साक्षी, तनिष्का, प्रियंका, दीपसिखा,खुशी, रम्भा,शिवानी,अभिमन्यु,दीपक,मनीष,प्रदीप, सुलेखा, स्नेहा, अंनु, अंजलि,श्रावणी,नेहा,काजल,लॉरेंस, संतोष, लक्ष्मण सहित सैकड़ों स्वयंसेवक उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं