जननायक फुलकु पांडेय की 23वीं पुण्यतिथि मनाकर उनकी प्रतिमा लगाने की माँग की गई।



देवघर- शुक्रवार को फूलकु सेवा संस्था, लखनगड़िया के तत्वाधान में सद्भावना उद्यान लखनगड़िया पंचायत पिछड़ीबाद , प्रखण्ड व देवघर जिला में जननायक फुलकु पांडेय की 23वीं पुण्यतिथि मनाई गई। इस अवसर पर कोविड-19 के मानकों का पालन कर लोगों ने उनके समाधि पर माल्यार्पण कर नमन किया।

जननायक फूलकू पांडेय भूमिगत स्वंतत्रता सेनानी, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के अनुयाई और किसान नेता सहजानंद सरस्वती के परम्  सहयोगी थे। साथ हीं वे पथरा पंचायत के आजीवन मुखिया भी रहे। अजय औऱ पतरो नदियों ( दोआब क्षेत्र ) के बीच के उपेक्षित भू-भाग में विद्यालय प्रखण्ड, रेल ठहराव औऱ बड़े नदियों में पुल निर्माण के लिए उन्होंने जनांदोलन का नेतृव किया था।

किसान सभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष   रहने के साथ-साथ उन्होंने आदिवासी महिलाओं की अस्मिता को बचाने और समृद्ध आदिवासी संस्कृति की रक्षा के लिए लखनगड़िया कृषि प्रदर्शनी सह कृषि मेला की स्थापना की, जो आज 58 वर्षो से जारी है। इस मेले में स्वतंत्रता सेनानियों की मूर्ति की पूजा के साथ गौ माता की पूजा भी होती है।

स्व. पाण्डेय जी का एक अमर वाक्य उनके समर्थकों में सदैव आदर्श बन गया है। इंसान की नियत यदि सही हो तो पढ़ाई, दवाई और जुल्म के खिलाफ लड़ाई में धन की कमी नही होती।

सर्वहारा वर्ग के उत्थान के लिए संघर्षशील पाण्डेय जी ने नेताजी सुभाष के समझौता विहीन विचार  धारा को अपनाया औऱ सामंती शक्तियों के विरुद्ध संघर्ष जारी रखा।

इस अवसर पर फुलकु सेवा संस्था लखनगड़िया कार्यकर्ताओं ने लोगो  किसानों के बीच कृषि बीज का वितरण और  फलदार पौधे भी लागये गए। गैर स्वयं सेवी संस्था सम्पूर्ण स्वराज देवघर ने अपील किया किया कि कोविड19 से  बचाव के लिए सरकार द्वारा चलाये जा रहे मुफ्त कोरोना टीका करण का लाभ लें खुद लें और 10 लोगो को भी  टीका  लगवाने के लिए प्रेरित करें ।टीका पूर्णतः सुरक्षित और जीवन रक्षक है । 

कार्यकम में मौजूद लोगों ने मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन द्वारा मधुपुर विधानसभा उपचुनाव 2021 के दौरान लखनगड़िया के चुनावी सभा में आम जनता के बीच उन्होंने वादा किया था कि यदि इस चुनाव में हाफिजुल हसन की जीत होती है, तो लखनगड़िया मोड़ पर फुलकु पाण्डेय के नाम से विशाल तोरण द्वार के साथ चौक पर उनकी आदमकद प्रतिमा लगेगी।

संयोग वश चुनाव में जीत जेएमएम की हुई। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री और पर्यटन मंत्री से अपने वादे को पूरा कर स्व पाण्डेय को सच्ची श्रद्धांजलि देने की मांग की गई।

इस मेले से मरहूम हाजी हुसैन साहब का बड़ा लगाव था ,वे हारे या जीते हर बार मेले में पहुँच कर स्व पाण्डेय जी के समाधि पर माल्यार्पण करते थे। पुण्यतिथि पर जनार्दन पाण्डेय वरिष्ठ समाजवादी नेता ने फुलकु पाण्डेय के चित्र पर  माल्यर्पण कर उनकी जीवन वृत पर प्रकाश डाला। अंत में सभी फुलकू पांडेय के अधूरे सपनों को साकार करने का संकल्प लिया। इस आशय की जानकारी संस्था के अध्यक्ष लक्ष्मीनारायण नोनिया ने दी। मौके पर लक्ष्मी नारायण नोनिया ,गंगाधर सिंह ,अशोक पाण्डेय ,दयानन्द पाण्डेय ,सुशील सिंह ,गोपाल ठाकुर ,बरुण पाण्डेय दयानन्द पाण्डेय ,कुलदीप सिंह  सुशील पाण्डेय  ,राजीव रंजन विश्वनाथ पाण्डेय  त्रिलोकी नाथ विद्यार्थी  ,किशोर चौहान ,प्रणव सहित दर्जनों लोग मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं