जिले में 19 में से 18 आयुष चिकित्सालय है बंद ,लोगों को हो रही है परेशानी



नारायणपुर(जामताड़ा): भारतीय जनता पार्टी जामताड़ा जिला महामंत्री सुमित शरण ने बताया कि कोरोना की तीसरी लहर की संभावना के बीच जामताड़ा जिले में कुल 19 आयुष अस्पताल हैं l जिसमें 18 अस्पताल बंद पड़े हैं और बंद पड़े अस्पतालों की इमारत में असामाजिक तत्व और जानवरों ने अपना बसेरा बसा लिया है l

सुमित शरण ने स्थानीय कांग्रेसी विधायक इरफान अंसारी पर आरोप लगाया कि इरफान अंसारी खुद के डॉक्टर होने का दंभ भरते हैं और राज्य का स्वास्थ्य मंत्री बनना चाहते हैं परंतु खुद अपने इलाके में स्वास्थ्य सेवाएं चरमराई हुई है, इसका ध्यान उनको नहीं हैl

साथ ही जामताड़ा जिले के नाला विधानसभा क्षेत्र से विधायक रविंद्र नाथ महतो जो विधानसभा अध्यक्ष भी हैं झारखंड विधानसभा के, उनका भी जिले में स्वास्थ्य हवाओं को बेहतर करने में कोई दिलचस्पी नहीं नजर आ रही है l

सुमित शरण ने बताया कि आयुष अस्पताल लोगों के लिए बहुत उपयोगी है, खासकर कोरोना काल में लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए, आयुर्वेद, यूनानी, होम्योपैथिक दवाओं का काफी महत्व है|

केंद्र सरकार का आयुष मंत्रालय जन- जन तक आयुष अस्पताल और इसकी सुविधाओं को पहुंचाना चाहता है, परंतु झारखंड सरकार की उदासीनता के कारण आज जिले के 19 में से 18 अस्पताल काम नहीं कर रहे हैं, सुमित शरण ने राज्य के मुखिया मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मांग की कि अविलंब जामताड़ा जिले के सभी आयुष अस्पतालों को चालू करवाया जाए साथ ही स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर बनाया जाए कोरोना की तीसरी लहर की संभावनाओं के बीच यह बहुत जरूरी है जनहित में|

कोई टिप्पणी नहीं