ऑल इंडिया सिख काउंसिल (रजिस्टर्ड) ने सरदार पतविंदर सिंह का किया उत्साहवर्धनl



नैनी प्रयागराज / सरदार पतविंदर सिंह को ऑल इंडिया सिख काउंसिल (रजिस्टर्ड) ने करोना काल महामारी को देखते हुए अंगवस्त्रम,पुष्पगुच्छ,मोमेंटो काउंसिल ने स्पीड पोस्ट पत्र के माध्यम से देकर सम्मानित कियाl इस अवसर पर वर्चुअल माध्यम से चरनजीत सिंह राजपूत राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि सोशल मीडिया के माध्यम से काउंसिल लगातार प्रयागराज के प्रसिद्ध कर्मठ समाजसेवी सरदार पतविंदर सिंह के सामाजिक कार्यों को देख रही है कि  बालावस्था से ही सामाजिक जागरूकता की ज्योति लेकर प्रदेश,देश के विभिन्न प्रांतों जिलों में बराबर भ्रमण करते हुए आज वृद्धावस्था की ओर अग्रसर हो गए हैं किंतु इन्होंने सामाजिक चेतना की ज्योति को बुझने नहीं दिया.विवाह नहीं किया,वही अपनी पुरानी साईकिल पर सवार होकर,कभी नंगे पांव पद-यात्रा कर,कभी अर्धनग्न शरीर पर सूक्ति वाक्य लिखकर विभिन्न प्रकार से अपने शरीर को चिलचिलाती धूप,वर्षा ऋतु में ठंड में,लोगों मैं जन जागरूकता अभियान चलाने वाले ऐसे समाजसेवी को सेल्यूट हैl

उन्होंने ने आगे कहा कि संकट के समय में कोरोना योद्धा के रूप में समाजसेवी सरदार पतविंदर सिंह की प्रदेश और देशभर में लोग ने उनकी प्रशंसा की जिस समय पूरा देश वैश्विक महामारी कोरोनावायरस कोविंड-19 की दूसरी लहर से जूझ रहा है उस वक्त करछना तहसील के अरैल.गुरु नानक नगर निवासी सरदार पतविंदर सिंह अपनी जान की परवाह किए बगैर लगातार अपने सहयोगियों के साथ घर-घर जाकर लोगों को जागरूक कर रहे है तथा सैनिटाइजिंग कराकर अपने आसपास मोहल्लों को सुरक्षित कर रहे हैं जिसका परिणाम यह है कि जहां अन्य जिलों में कोरोना संक्रमितओं की संख्या लगातार बढ़ रही है वहीं अभी प्रयागराज में कम है इन्होंने संकट के समय अपने जिले को सुरक्षित रखने का दायित्व अपने कंधों पर उठाया तथा उसे सुरक्षित रखा इन्होंने बाहर से आए प्रवासी मजदूरों को कोरटीन सेंटर में रहने की सलाह दे रहे हैं l

    जैसा की ज्ञात है बताते चलें कि नैनी क्षेत्र के रहने वाले निर्धन सिख परिवार से ताल्लुक रखने वाले सरदार पतविंदर सिंह पुत्र स्वर्गीय भूपेंद्र सिंह.गुरु नानक नगर.गुरुद्वारा रोड नैनी प्रयागराज के शिक्षित व बेरोजगार अधेड़ आयु के सामाजिक कार्यकर्ता हैं जो कोरोना महामारी वायरस के कठिन समय में भी अपनी परवाह ना करके समाज सेवा में अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं इन्होंने अपनी शादी के लिए रखी "नई पगड़ी"को समाज की रक्षा कर लिए "मास्क" बनाकर लोगों को वितरित कर जान बचा रहे हैंl

नई पगड़ी का इस्तेमाल"मास्क" बनाने मे कर रहे हैं सरदार पतविंदर सिंह निर्धन परिवार से हैं  किंतु दिन-रात एक कर के अपने हाथों से "मास्क" तैयार करने में लगे हुए हैं लोगों को मुफ्त में बांटा जा रहा है श्री सिंह के छोटे से परिवार में पूजनीय माता दलजीत कौर बेटे के साथ कंधे से कंधा मिलाकर मास्क तैयार करने में हाथ बटा रही हैं l क्यों ना उक्त कपड़े को मास्क का रूप देकर जरूरतमंदों के बीच वितरित किया जाए जिससे उनका जीवन बचाया जा सके सैकड़ों लोगों को मास्क वितरित किया जा चुका हैl

No comments