वृक्ष रहें "कीलमुक्त" यह संकल्प हमारा-सरदार पतविंदर सिंह



नैनी प्रयागराज/ नागरिकों से खाली पड़ी जमीनों पर  वृक्षारोपण करने की अपील आज देश को शुद्ध जलवायु पर्यावरण की सख्त जरूरत युक्त विचार समाजसेवी सरदार पतविंदर सिंह जो बालकाल से ही पर्यावरण के क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं जहां वह वृक्षारोपण करते हैं वही यह चेतना जगाने का कार्य भी करते हैं कि वृक्षों को अपने पुत्र,पुत्रियों के जैसे परवरिश करें उन्होंने पिछले कई दिनों से पेड़ों को स्वच्छ,सुंदर,आकर्षित बनाने के लिए साफ सफाई अभियान चलाया हुआ है जिसमें उन्होंने अपने झोले में खुरपी,जमूरा,प्लस जैसे हैंड टूल्स पेड़ों की सुरक्षा और परवरिश लिए हमेशा अपने पास मौजूद रखते हैं पेड़ों में लगे हुए विभिन्न पोस्टर,बैनर जिसको  नुकीली कीलो के द्वारा गाढ़ा गया था जो हमारे पेड़ों की परवरिश  में शारीरिक रुप से नुकसान पहुंचाते हैं साथ ही मनुष्य को भी नुकसान पहुंचाने का कार्य करते हैं जब कोई व्यक्ति पेड़ की छाया,पेड़ का सहारा लेकर खड़ा होगा और जैसे ही पेड़ से सिर टिकाया तो हमें चुभन महसूस हुई और खून निकलने लगा वहां पोस्टर टांगने के लिए कील गड़ी हुई थी कीलो की हल्की चुभन से मुझे दर्द हुआ तो इन पेड़ों को कितना दर्द होगा जिसमें कई कीले चुभी है इसी को ध्यान में रखते हुए हमने स्वच्छता अभियान चलाया जिसके माध्यम से पिछले कई दिनों से पेड़ों को कीलमुक्त करने में लगे हुए हैं नुकीली कीलें को हटाने की सेवा कर रहा हूं समाजसेवी सरदार पतविंदर सिंह ने जिन पेड़ों में भी पोस्टर लगे,लटकाने के लिए कील गड़ी हुई थी उन पेड़ों को कीलमुक्त कियाl कीलमुक्त अभियान में कौशल किशोर,विवेक कुमार,हरमनजी सिंह,दलजीत कौर,अजीत चौधरी सहित तमाम पर्यावरणविद अपने-अपने क्षेत्र में कार्य कर रहे हैंl

कोई टिप्पणी नहीं