पूर्व कृषि मंत्री सह भाजपा नेता ने किया प्रेसवार्ता: प्रखंड स्तर पर चरम सीमा पर भ्रष्टाचार।

 


कुंडहित (जामताड़ा):शुक्रवार को पूर्व कृषि मंत्री सह भाजपा नेता   सत्यानंद झा ने बनकटी स्थित अपने निजी आवास   पर  किया प्रेसवार्ता। प्रेसवार्ता कर उन्होंने कहा कि प्रदेश से लेकर प्रखंड स्तर तक चरम सीमा पर भ्रष्टाचार है। प्रखंड स्तर पर पैसा लेकर योजना की बिक्री होती है। बिना पगड़ी दिए कोई कार्य इकरारनामा नहीं होता है। काम गलत रूप से होता है। तालाब निर्माण के कार्य में जेसीबी मशीन का उपयोग होता है ।यह बात जब कहीं जा रही है तो कुंडहित प्रखंड विकास पदाधिकारी बता रहे हैं कि गलत कार्य  नहीं हो रहा है। उन्होंने कुंडहित भेलुवा  पंचायत की जयपुर गांव की मनरेगा योजना की बात कही  कि वहां पर मनरेगा योजना तालाब  निर्माण में जेसीबी  मशीन का उपयोग किया गया था और उससे बचने के लिए यहां के बीडीओ ने रोजगार सेवक से आदिवासी वृद्ध महिला एवं वहां के दलाल पर केस करवाया था। लेकिन पुलिस विभाग ने उनके कर्मचारी ,रोजगार सेवक पंचायत सेवक, कनीय अभियंता, सहायक अभियंता  पर छूट छोड़  दिया। उन्होंने कहा कि बीडीओ कह रहा है कि कोई भ्रष्टाचार काम नहीं हो रहा है। तो मैं कहना चाहता हूं।पुलिस कैसे सत्य किया ।इस  केस में पुलिस सही है या बीडीओ सही है इसका फैसला कौन करेगा। यह बहुत बड़ा सवाल है।इसमें  सच्चा कौन है और गलत कौन है ।डीसी और एसपी को फैसला करना चाहिए और यहां के उपायुक्त और एसपी को जवाब देना चाहिए ।इस बात का खुलासा होना चाहिए और खुलासा नहीं होता है तो समझा जाएगा कि जिला पदाधिकारी प्रखंड पदाधिकारी  से मिली हुई है। यहां का बीडीओ एक भ्रष्ट बीडीओ है  ।गौशाला का निर्माण पुराना  बनाए हुए दीवाल पर निर्माण किया जा रहा है ।जिस घर पर गाय बैल नहीं है उस घर में तीन चार गोशाला बन रहे हैं। इस पर जांच होना चाहिए। बड़ी घोटाला सामने आएगी ।अगर जिला के पदाधिकारी जांच नहीं कर रहे हैं तो जिला पदाधिकारी को मोटी रकम प्रखंड पदाधिकारी देती है ।यह बात सत्य है कि भ्रष्टाचार से भरा हुआ है ।उन्होंने वन विभाग एवं पुलिस विभाग को निशाना साधते हुए कहा कि यहां पेड़ की कटाई अंधाधुन हो रही है । माफिया  थाना जाते हैं अच्छा पैसा देते हैं थाना प्रभारी चुप रहता है ।थाने के संरक्षण में लकड़ी और  गाय  की तस्करी हो रही है ।यहां के पुलिस विभाग इस कार्य में मस्त है ।यहां खुलेआम हो रहा है और माफिया मालामाल हो रहा है। बिजली विभाग को निशाना साधते हुए कहा कि बिजली विभाग का कार्य करने का यह समय सही नहीं है ।जिस समय बिजली का नए सिरे से निर्माण किया जा रहा था ।उस समय विभाग के पदाधिकारी सोया हुआ था। तब  तो उस समय  कुंडहित 33 केवी पर घटिया कार्य हुआ था। अभी कार्य की ठीक करने के नाम पर गर्मियों के समय में बिजली को काट दिया जाता है ।सरासर गलत है। साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा कि विधायक के ओर से  पंचायत में 5-5  चापाकल निर्माण हो रहा है। लेकिन गांव में जहां जरूरत है वहां नहीं होकर उनकी निजी व्यक्ति घर के  चापाकल हो रहा है। लेकिन सर्वजनिक हित के लिए होना चाहिए जहां जरूरत है। जहां लोगों का सार्वजनिक हित है वहां होना चाहिए ।ऐसे कार्य नहीं हो रहा है। यहां के विधायक और सरकार चुप है। सरकार के लोग भ्रष्ट पदाधिकारी से मिली हुई है। इसलिए ऐसा कार्य हो रहा है।

साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा कि

मनरेगा जांच टीम क्षेत्र में आया हुआ था। जहां टीम में नाला जेई एई कुंडहित और कुंडहित प्रखंड के जेई, एई को फतेहपुर प्रखंड में दिया गया। यही लोग गलत काम कर रहे हैं ,और यही लोग लुटेरे हैं। उन्होंने डीसी और डीडीसी को कार्यस्थल में आकर करने को जाँच करने को  कहा और सच्चाई का पता लगाइए गरीबी का न्याय दीजिए । मौके पर जिला मिडिया प्रभारी कुंदन गोस्वामी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं