देवघर ऐम्स ओपीडी का उद्घाटन टल जाने पर निशिकांत दुबे ने हेमंत सरकार को आड़े हाथों लिया।



देवघर ऐम्स ओपीडी भवन का उद्घाटन टल जाने पर स्थानीय सांसद निशिकांत दुबे ने राज्य की हेमंत सरकार को आड़े हाथों लिया है।दरअसल ओपीडी भवन का 26 जून को उद्घाटन होना निर्धारित था।वर्चुअल उद्घाटन में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन और झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा किया जाना था।लेकिन स्थानीय सांसद निशिकांत दुबे को उद्घाटन स्थल पर सशरीर उपस्थित रहने की अनुमति नहीं मिलने के कारण अंतिम समय में यह कार्यक्रम केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा स्थगित कर दिया गया। इस पूरे प्रकरण के लिए राज्य की हेमंत सोरेन सरकार को दोषी ठहराते हुए सांसद ने कहा कि आज ही के दिन 1975 में देश में आपातकाल की घोषणा हुई थी।इतने वर्षों बाद झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने इस कार्यक्रम में स्थानीय जनप्रतिनिधि के उपस्थित होने पर रोक लगा कर आपातकाल की याद ताजा कर दी है। सांसद ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पहले ही यहाँ मनमाने तरीके से ओपीडी सेवा का उद्घाटन कर दिया गया है। अब सिर्फ भवन का उद्घाटन बांकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री अब खुद यहाँ आ कर उद्घाटन करेंगे।उधर ऐम्स के ओपीडी भवन का उद्घाटन टालने पर कोंग्रेस पार्टी ने आंदोलन की चेतावनी दे डाली है।पार्टी के देवघर जिला अध्यक्ष मुन्नम संजय ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए स्थानीय लोगों की उम्मीदों के खिलाफ बताया।कोंग्रेस जिला अध्यक्ष ने कहा है कि स्थानीय सांसद ने अपने अहंकार के लिए लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया है। उन्होंने कहा कि 26 जून को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत ऐम्स के ओपीडी भवन का उद्घाटन अगर नहीं हुआ तो कोंग्रेस पार्टी ऐम्स भवन के सामने धरना पर बैठेगी और सड़क पर उतर कर इसका विरोध करेगी।

कोई टिप्पणी नहीं