या देवी सर्वभूतेषु शक्ति रूपेण संस्थिता मंत्र से वातावरण हुआ भक्तिमय



24जून को हवन एवं 25 जून को प्रतिमा विसर्जन नगर निगम क्षेत्र के रोहिणी पांडे टोला स्थित सतचंडी मंदिर परिसर में आयोजित ज्येष्ठी दुर्गा पूजा से चौथे दिन की पूजा की अवसर पर  सुबह से ही मंदिर परिसर में भक्तों का पूजा अर्चना हेतु ताँता लगा रहा ।समिति के सदस्यों द्वारा कतारबद्ध होकर करोना गाइड लाईन का अनुपालन कराते हुए श्रद्धालुओं को पूजा कराया गया ।पूजा को सफलता पूर्वक संचालित करने के लिए युवा वर्गो की समिति बनाई बनाई गई है जो पूरी शर्मा व तल्लीनता से अपनी जवाबदेही  का निर्वहन करने में लगे हुए हैं। मनोकामना प्राप्त श्रद्धालुओं के द्वारा कन्याकुमारी को भोजन कराने में उत्सुकता देखा गया। कन्याकुमारी को लक्ष्मी स्वरूपा भगवती का साक्षात रूप मानकर भोजन कराने की मंदिर में परंपरा रही है जिसका निर्वहन मनोकामना प्राप्त श्रद्धालुओं के द्वारा किया जा रहा है ।साथ ही साथ आचार्य उपेंद्र नाथ पांडे के  नेतृत्व में 10 पंडितों के द्वारा दुर्गा सप्तशती पाठ कराया जा रहा है जिससे वातावरण भक्तिमय हो गया है।  पाँच दिवसीय पूजा के पाँचवें दिन के अवसर पर 24 जून दिन गुरुवार हवन एवं 25 जून दिन शुक्रवार को प्रतिमा विसर्जन की तिथि निर्धारित है।प्रत्येक दिन स्थानीय व बाहरी कलाकारों के द्वारा भजन संध्या का आयोजन को वातावरण को भक्तिमय बनाया  जा रहा है। 

 दस पंडितों में क्रमशः नारायण पाण्डेय, भाष्कर पाण्डेय, रविशंकर पाण्डेय,राजू पाण्डेय,शिवानन्द पाण्डेय, कन्हैया पाण्डेय, दीनानाथ पाण्डेय,रंजीत पाण्डेय,नन्दू पाण्डेय आदि जुटे हुए हैं। निगरानी समिति के सदस्य भी अपनी जबाब देही निभाने में लगे हुए हैं ताकि श्रधालू भक्तों को किसी प्रकार की कोई कठिनाई नहीं हो।

कोई टिप्पणी नहीं