विद्युत उपभोक्ताओं ने विभाग के अभियंता पर लगाया मनमानी का आरोप

 


सारठ : प्रखंड क्षेत्र के मोदीबांध गांव निवासी एक दर्जन से अधिक विद्युत उपभोक्ताओं ने बिजली विभाग के कनीय अभियंता प्रभात तिवारी पर मनमानी करने का आरोप लगाते हुए आक्रोश जताया। सोमवार शाम को उक्त सभी विद्युत उपभोक्ताओं ने विरोध जताते हुए कहा पहले सारठ बाजार फीडर के मोदीबांध बजरंगबली मंदिर स्थित ट्रांसफार्मर से पूरे मोदीबांध गांव के उपभोक्ताओं को बिजली की आपूर्ति की जाती थी। वहीं बताया कि एक पखवाड़े पूर्व कनीय अभियंता ने मोदीबांध गांव के 15 घरों के बिजली कनेक्शन को कस्तूरबा स्कूल के पास लगाये गये ट्रांसफार्मर से जोड़ दिया है। जिससे पिछले 15 दिन से मोदीबांध के आधे गांव में निर्बाध रूप से बिजली की आपूर्ति नहीं हो रही है। ग्रामीण उपभोक्ताओं का कहना था कि उनलोगों ने कनीय अभियंता को अनियमित आपूर्ति की समस्या बताते हुए बजरंगबली मंदिर स्थित ट्रांसफार्मर से ही सभी के कनेक्शन को पुनः चालू करवाने की अपील की थी। लेकिन अभियंता द्वारा ग्रामीण उपभोक्ताओं की शिकायत की अनदेखी की जा रही है। जबकि दूसरे ट्रांसफार्मर से कनेक्शन जोड़े जाने की वजह से रह-रहकर ट्रांसफार्मर में खराबी होने की बात भी ग्रामीणों ने कही। वहीं आक्रोशित ग्रामीणों ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि यदि विभाग के अभियंता अपने रवैये में सुधार नहीं करेंगे तो उपभोक्ता सड़क पर उतरने के लिए बाध्य हो जायेंगे। वहीं ग्रामीण उपभोक्ताओं की शिकायत को संदर्भ में जेई प्रभात तिवारी से पूछे जाने पर कहा कि गांव में नया ट्रांसफार्मर लगने के बाद पुराने ट्रांसफार्मर से लोड घटाने के लिए ऐसा किया गया था। यदि इस ट्रांसफार्मर में कोई खराबी है तो उसे दुरुस्त कराया जायेगा। ग्रामीणों को निर्बाध रूप से बिजली की आपूर्ति हो, इसके लिए विभाग उपभोक्ताओं की हर मांग पर गंभीरता से दायित्व का निर्वहन करेगी।

कोई टिप्पणी नहीं