जिले को स्वच्छ, सुंदर और स्वस्थ्य बनाने में हम सभी को अपने व्यवहार में बदलाव लाने की आवश्यकताः-उपायुक्त



उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में आज दिनांक 18.06.2021 को वीडियो कोंफ्रेंसींग के माध्यम से देवघर नगर निगम के सफाई मित्र, कर्मचारियों एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों के साथ बाबा मंदिर के आसपास खुदरा दुकानदार संघ  के प्रतिनिधि व सदस्यों के साथ ऑनलाइन परिचर्चा सह बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान उपायुक्त नगर निगम क्षेत्र अन्तर्गत कोविड वैक्सिन के प्रथम डोज, द्वितीय डोज के साथ कोविड नियमों के शत प्रतिशत अनुपालन की स्थिति से अवगत हुए। साथ हीं शत प्रतिशत वैक्सिनेशन को लेकर नगर निगम क्षेत्र अन्तर्गत चल रहे गतिविधियों के अलावा दुकानदार संघ के प्रतिनिधियों एवं नगर निगम के कर्मचारियों द्वारा दिये गये अपने-अपने विचार व सुझावों से अवगत हुए।

वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान उपायुक्त  मंजूनाथ ने सभी संबोधित करते हुए कहा कि जिले को संक्रमण मुक्त बनाने में शत प्रतिशत टीकाकरण अतिआवश्यक है। संभावित तीसरी लहर से पहले नगर क्षेत्र के साथ-साथ बाबा मंदिर के आसपास थोक व खुदरा विक्रेताओं को कोविड टीका से आच्छादित करने का प्रयास किया जा रहा है, जिसमें आप सभी का सहयोग आपेक्षित है, ताकि संक्रमण फैलने का खतरा न रहे। आगे उन्होने कहा कि आने वाले समय में जब बाबा मंदिर का पट खुलेगा तब यात्रियों का आवागमन शुरू हो जाएगा, जिससे कि बाबा मंदिर के आस पास के दुकानदारों को कोरोना संक्रमण का खतरा हो सकता है। जिससे बचाव का एकमात्र उपाय है सतर्कता व कोविड टीका। ऐसे में याद रखें कि टिकना है तो टीका लगवाना है के नारे के साथ बाबा बैद्यनाथ की नगरी को संक्रमण मुक्त बनाने के उद्देश्य से आप सभी टीकाकरण अभियान में बढ़-चढ़ कर भाग लें एवं जिला प्रशासन का सहयोग करें। इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि जिले का स्वच्छ व सुंदर बनाने में जमीनी स्तर पर कार्य करने का आवश्यकता है, ताकि बाहर से बाबा नगरी आने वाले लोग एक अच्छी अनुभूति प्राप्त कर अपने गंतव्य की ओर प्रस्थान करें। वर्तमान में जिस प्रकार से आप सभी ने कोरोनाकाल में अपने कर्तव्यों का निवर्हन किया है वो वाकई काबिले तारीफ व सराहणीय है। ऐसे में आप सभी से मेरा आग्रह होगा कि कोरोनाकाल के अलावा जिले को स्वच्छ व सुंदर रखने में आप सभी की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण है। वर्तमान में कोरोना वायरस के रोकथाम में स्वास्थ्य कर्मियों व सफाई कर्मियों की ओर से किये जा रहे कार्य और योगदान का समाज सदैव ऋणी रहेगा।

■ बाबा मंदिर के आसपास के दुकानदार थर्मोकाॅल व प्लास्टिक की जगह अन्य विकल्पों का करें उपयोगः-उपायुक्त....

इसके अलावे उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने थर्मोकाॅल के उपयोग को पूर्णतः खत्म करने में सभी सहयोग की बात करते हुए कहा कि थर्मोकाॅल के उपयोग को बंद करने में आप सभी का सहयोग आपेक्षित है, ताकि प्लास्टिक से होने वाले दुष्प्रभाव को समझते हुए अभी से इसके उपयोग को न कहें और दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें। थर्मोकाॅल के जगह पत्तल के बने विकल्पों का उपयोग पर्यावरण व स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से बेहतर विकल्प है। वहीं दूसरे स्तर से देखा जाय तो पत्तों से सामानों का उपयोग कर प्रकृति प्रेम व पर्यावरण को सुरक्षित रखा जा सकता है। ऐसे मे आप सभी से मेरा आग्रह होगा कि अपने स्तर से लोगों को जागरूक करें कि थार्मोकाॅल व प्लास्टिक के जगह पत्तों से बने पत्तल, दोना आदि का इस्तेमाल कर एक कदम पर्यावरण संरक्षण की ओर बढ़ाने में जिला प्रशासन का सहयोग करें। आगे उन्होंने कहा कि वर्तमान में कोरोना संक्रमण के मामलों को लेकर सभी को सतर्क व सावधान रहने की जरूरत है। साथ हीं अपने स्तर से लोगों को कोविड वैक्सिनेशन व कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूक करने की आवश्यकता है। इसके अलावे उपायुक्त ने नगर निगम क्षेत्र को स्वच्छ, स्वस्थ्य व सुंदर बनाने के उदेश्य से विभिन्न बिन्दुओं पर विस्तृत चर्चा करते हुए आवश्यक बिंदुओं से सभी को अवगत कराया गया। साथ ही उपायुक्त ने इंदौर नगर निगम द्वारा सफाई व कचरा प्रबंधन को लेकर किये जा रहे कार्यों की जानकारियों से सभी को अवगत कराते हुए कहा कि इंदौर कभी आम शहरों की तरह हुआ करता था, मगर आज वह देश में एक खास पहचान बना चुका है। बीते तीन सालों से देश का सबसे स्वच्छ शहर बना हुआ है और इंदौर में यह अचानक नहीं हुआ है। सभी के सामुहिक सहयोग और लोगों ने दिल और दिमाग से स्वच्छता को अपनाया है और उसका नतीजा सबके सामने है। ऐसे में आवश्यक है हम सभी अपने-अपने स्तर से साफ-सफाई की ओर एक कदम बढ़ाते हुए इस दिशा में बेहतर कार्य करें, ताकि देवघर जिला को स्वस्थ, सुंदर और स्वच्छ बनाया जा सके।

इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त ने साफ-सफाई के प्रति लोगों को जागरूक करने के उदेश्य से कहा कि वर्तमान में आवश्यक है कि साफ-सफाई को लेकर सोंच को साकारात्मक बनाया जाय और इसी प्रकार अपने व्यवहार में सभी बदलाव लाएं। जिस प्रकार हम अपने घर में साफ-सफाई रखते है। उसी प्रकार बाहर में भी हमें व्यवहार अपनाने की आवश्यकता है, ताकि जिले को स्वच्छ और सुंदर बनाने में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकें। ऐसे में आप सभी से भी मेरा आग्रह होगा कि साफ-सफाई के साथ लोगों को अपने स्तर से जागरूक करें।

■ बरसात के मौसम को देखते हुए डेंगू के रोकथाम के लिए एण्टी लार्वा केमिकल का लगातार करें छिड़कावः उपायुक्त....

इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने बरसात के मौसम को देखते हुए कहा कि डेंगू, चिकनगुनिया व मलेरिया जैसे बीमारियों के रोकथाम को लेकर आप सभी की भूमिका और भी बढ़ जाती है। ऐसे में एण्टी लार्वा केमिकल का छिड़काव शहर के विभिन्न स्थानों के साथ जल जमाव वाले क्षेत्रों में किया जाय। इसका विशेष रूप से ध्यान रखा जाय। डेंगू के लक्षणों के साथ यह बात ध्यान देने वाली है कि कई रोग और अन्य बुखार आदि के लक्षण भी डेंगू से मिलते जुलते हो सकते हैं और कभी-कभी रोगी में बुखार के साथ सिर्फ 1-2 लक्षण होने पर भी डेंगू पॉजिटिव आ सकता है इसलिए सभी लक्षणों का इंतजार नहीं करना चाहिए। यदि बुखार 1-2 दिन में ठीक न हो तो तुरंत डॉक्टर के पास जाकर चेक-अप करवाना चाहिए।

इस दौरान बैठक में उपरोक्त के अलावे नगर आयुक्त  शैलेन्द्र कुमार लाल, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी  रवि कुमार, जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी, सहायक जनसम्पर्क पदाधिकारी  रोहित कुमार विद्यार्थी, संबंधित विभाग के अधिकारी कर्मी एवं खुदरा विक्रेता संघ के सदस्य आदि उपस्थित थे।    

कोई टिप्पणी नहीं