सांसद के अहम के कारण एम्स ओपीडी का उद्घाटन टलने से चारो ओर हो रही सांसद की निंदा।



देवघर- एम्स ओपीडी का उद्घाटन केंद्र सरकार द्वारा स्थगित करना यहां की जनता के साथ साथ उनके स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ है। जनता सबकुछ देख रही है। किस अहम के कारण एम्स ओपीडी का उद्घाटन रद्द किया गया। वर्चुअल उद्घाटन में यदि आप सांसद महोदय सम्मिलित हो जाते हैं, तो क्या होता आपकी कौन सी बेइज्जती होती। अभी तीसरा लहर आने वाला है, अभी एम्स की जरूरत है। देवघर जिला वासियों को आपके बिहार के भी लोग चाहे वह जमुई क्षेत्र के हो या भागलपुर क्षेत्र के सभी लोग यहां पर इलाज के लिए आते हैं। बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिलते हर चीज में आप राजनीति करते हो। अभी तक आपके द्वारा लाए गए किसी योजना मद में बड़े प्रोजेक्ट में लाखों की छोड़िए 100- 200 आदमी का भी नौकरी का इंतजाम यदि आपके द्वारा किया गया हो तो आप बतावे। सिर्फ चिट्ठी लिखने से या केंद्र की योजनाओं को राज सरकार के द्वारा किए गए कार्यों को वाह वाही लेने के सिवाय क्या किया है। आपने सांसद मद से ऐसा कोई एक भी काम बताएं जो जनहित में किया गया हो। संथाल परगना एक गरीब छेत्र है, यहां स्वास्थ्य की सुविधा नहीं है। प्रधानमंत्री के कर कमलों द्वारा एम्स का शिलान्यास किया गया था, ताकि क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध हो। लेकिन उद्घाटन स्थगित किया गया, जबकि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन सिंह ने अपनी सहमति जताई थी। फिर रद्द क्यों किए जनता को जवाब देना होगा, जनता गूंगी बहरी नहीं है। सभी चीज देख रही है सुन रही है। वक्त पर जवाब भी देगी माननीय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर आपने आरोप लगाया कोई प्रमाण है कि आपको रोका जा रहा था। आपको किसी ने नहीं रोका था आप रोज एम्स और एयरपोर्ट जाते हैं। आज तक किसी ने आपको रोका आप सांसद हैं, आपको कोई नहीं रोक सकता फिर यहाँ अहम की बातें कहां से आई।

कोई टिप्पणी नहीं