देवघर के धरतीपुत्र पंडित विनोदानंद झा के नाम से हो हवाई अड्डे का नामकरण।



देवघर- कोंग्रेस नेता दिनेशानंद झा ने बीते दिनों से श्रेय लेने की होड़ हवाई अड्डे को लेकर चल रहे पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि देवघर हवाई अड्डा जो कि देवघर की बहुत पुरानी योजना रही है। उसमें समय-समय पर केंद्र सरकार द्वारा फंड का आवंटन कर सौंदर्यकरण एवं विस्तारीकरण के कार्य करते आ रहे हैं। विगत 2012 वर्ष में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा इस एयरपोर्ट के विस्तारीकरण एवं सौंदर्यकरण हेतु 300 करोड़ का फंड आवंटन किया था। उस समय झारखंड में यूपीए के नेतृत्व में हेमंत सोरेन की अगुवाई में सरकार चल रही थी। ऐसे में हवाई अड्डा को लेकर श्रेय लेने की होड़ पर विराम लगना चाहिए। जहां तक बात है स्थानीय सांसद एवं केंद्रीय बजट होने के नाते सांसद की उपस्थिति होना अनिवार्य होता है। लेकिन इसका यह मतलब बिल्कुल नहीं होना चाहिए कि सांसद इसका श्रेय अपने माथे ले। देवघर हवाई अड्डा के लिए वर्ष 2012 में यूपीए सरकार चाहे वह केंद्र में हो या राज्य में हो, उनको जाता है। साथ ही साथ उन्होंने राज्य सरकार एवं केंद्र सरकार से मांग की है कि देवघर हवाई अड्डे का नामकरण संयुक्त बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं देवघर के धरतीपुत्र पंडित विनोदानंद झा के नाम से हो।

कोई टिप्पणी नहीं