उपायुक्त ने संभावित तीसरी लहर से पहले स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने का दिया निर्देश



उपायुक्त-सह-जिला दंडाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री द्वारा पुराने सदर अस्पताल एव नए सदर अस्पताल का निरीक्षण कर संभावित कोरोना महामारी के तीसरे लहर से बचाव व रोकथाम को लेकर पूर्ण हो चुके कार्यों के साथ चल रही तैयारियों का जायजा लिया गया। इस दौरान उपायुक्त ने चल रहे विभिन्न कार्यों का निरीक्षण करते हुए ससमय सभी कार्यों को पूर्ण करने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया।

निरीक्षण के क्रम में मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गई कि कोरोना महामारी के तीसरे लहर से बचाव हेतु जिला प्रशासन द्वारा ट्रेडिशनल बेड, ऑक्सीजनयुक्त बेड, वेंटिलेटर के साथ स्वास्थ्य संबंधी सभी आवश्यक व्यवस्था की जा रही है, जो कि अंतिम चरण में है। आगे उन्होंने कहा कि संभावित संक्रमण की तीसरी लहर जिले में आये उससे पहले सारी आवश्यक तैयारियां पूर्ण कर ली जाएगी, ताकि किसी भी प्रतिकूल परिस्थिति से निपटने में आसानी हो। साथ ही उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री द्वारा जानकारी दी गई कि कोरोना के संभावित तीसरे लहर से निपटने हेतु नए सदर अस्पताल में 180 नए बेड की व्यवस्था की जा रहा है एव पुराने सदर अस्पताल में 100 नए बेड की सुविधा रहेगी। वही जिले के विभिन्न सीएससी केंद्रों में भी बेड का निर्माण करने पर विचार किया जा रहा है।

इसके अलावे उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री द्वारा जानकारी दी गई इन दोनों जगहों पर सभी बेड कोविड के मरीजों हेतु आवश्यक चिकित्सीय सुविधा से लैस रहेगी, ताकि मरीजो को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराई जा सके। आगे उन्होंने कहा कि नए सदर अस्पताल में मरीजो को आसानी से ऑक्सिजन उपलब्ध कराने हेतु पीएसए प्लांट हेतु प्लेटफार्म तैयार कर लिया गया है। जल्द ही पीएसए प्लांट को नए सदर अस्पताल में अधिष्ठापन को लेकर संबंधित अधिकारियों आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया है, ताकि जल्द ही इसका कार्य पूर्ण कर लिया जाए 

■ नए व पुराने सदर अस्पताल में मेडिकल कचरा, साफ-सफाई और सेनेटाइजेशन का रखें विशेष ध्यान:- उपायुक्त....

इसके अलावे उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने नए सदर अस्पताल का निरीक्षण कर कोविड से जुड़े इंतजामों को दुरुस्त करते हुए नए व पुराने सदर अस्पताल में मेडिकल कचरा, साफ-सफाई और सेनेटाइजेशन की व्यवस्था को लेकर आवश्यक निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया। साथ ही उपायुक्त ने विभिन्न बिंदुओ व व्यस्थाओं को लेकर सिविल सर्जन को आवश्यक सभी सुविधाओं को दुरुस्त करने का निर्देश दिया। 

इस दौरान उपरोक्त के अलावे सिविल सर्जन, अपर समाहर्ता, प्रशिक्षु आईएएस, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी, गोपनीय प्रभारी, डिप्टी सर्जन एवं संबंधित विभाग के अधिकारी व चिकित्सकों की टीम आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं