पैतृक जमीन पर कब्जा करते देख महिला ने थाने में लगाई न्याय की गुहार

 



ससुर व पिता के साथ थाने आई पीड़ित महिला


सारठ : थाना क्षेत्र के रानीगंज (पतलकुआं) गाँव निवासी रीता देवी ने अपने पति उमेश महतो के खिलाफ शराब पीकर मारपीट कर घर से बाहर निकालने एवं जबरदस्ती पैतृक जमीन बेचने का आरोप लगाते हुए थाने में लिखित आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है।रीता देवी व उनके पिता किरण महतो ने बताया की 12 वर्ष पूर्व रीता देवी की शादी रानीगंज निवासी कांशी महतो के पुत्र उमेश महतो से हुई थी। शादी के लगभग दो वर्षों के बाद से ही पति द्वारा लगातार शराब पीकर गाली ग्लोज एवं मारपीट करने को लेकर कई बार पंचायती भी हुई, जिसमें पति ने अपनी गलती स्वीकार कर आगे से ऐसा नहीं करने की बात कही। लेकिन कुछ दिनों के बाद पुनः उसी तरह करने लगा। बीते दो माह पूर्व मारपीट कर पत्नी व तीन छोटे-छोटे बच्चों को घर से निकाल दिया। जिसके बाद से पत्नी अपने मायके करमाटांड़ थाना अन्तर्गत बाराटाँड गाँव मे रह रही हूँ। इसी बीच मौके का फायदा उठाकर पति ने शराब पीने एवं अय्याशी करने के लिए सड़क के किनारे का कीमती एवं उपयोगी जमीन को ओने-पौने दाम में गांव के ही मथुरा महतो के पास बेच दिया। जिसकी जानकारी अपने पिता कांशी महतो को भी नहीं दिया और ना ही अपने सगे भाइयों को ही दिया। वहीं उक्त जमीन पर मथुरा महतो द्वारा कब्जा करते देख मना करने गए कांशी महतो ने अपनी बहू को जानकारी दी। वहीं आज रीता देवी अपने ससुर व पिता के साथ थाने आकर लिखित शिकायत करते हुए उक्त जमीन पर हो रहे कब्जे पर तत्काल रोक लगाने और  धारा 144 लगाने की मांग की है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

No comments