विधायक ने सारठ सीएचसी में पाइप लाइन से ऑक्सीजन आपूर्ति सिस्टम का किया उद्घाटन



सारठ :  कोरोना के तीसरे लहर से बचाव के लिए की जा रही तैयारी को लेकर विधायक रंधीर सिंह, बीडीओ साकेत कुमार सिन्हा व चिकित्सा प्रभारी डॉ जियाउल हक द्वारा संयुक्त रूप से मंगलवार को सीएचसी में पाइप लाइन से ऑक्सीजन आपूर्ति सिस्टम का उद्घाटन किया। वहीं अस्पताल के ऑब्जर्वेशन वार्ड में लगाये गये ऑक्सीजन युक्त 30 बेड का का भी जायजा लिया। जहां बीडीओ, चिकित्सा प्रभारी व स्वास्थ्य कर्मियों ने द्वारा विधायक को माला पहनाकर स्वागत किया गया। 

अस्पताल प्रबंधन समिति की बैठक में भी शरीक हुए विधायक : 

विधायक रंधीर सिंह की अध्यक्षता में मंगलवार शाम को अस्पताल प्रबंधन समिति की बैठक हुई। बैठक में विधायक ने चिकित्सा प्रभारी से सीएचसी में आम लोगों को मिल रही एक-एक व्यवस्था की विस्तार से जानकारी ली। प्रभारी चिकित्सक द्वारा बताया गया कि अस्पताल में ऑक्सीजन युक्त 30 बेड का सुचारु संचालन के लिए सीएचसी को कम से और 20 जम्बो ऑक्सीजन सिलिंडर की आवश्यकता होगी। जबकि अभी सीएचसी में महज 05 ही जम्बो ऑक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध है। वहीं बताया गया कि अस्पताल का एक्सरे मशीन तकनीकी खराबी की वजह से बंद पड़ा हुआ है। जिसके चलते सीएचसी में एक्स रे की सुविधा नहीं मिल पा रही है और लोगों को एक्सरे के लिए बाहर जाना पड़ रहा है। बैठक के दौरान कई सदस्यों ने कहा कि लगभग दो लाख की आबादी को स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने का दायित्व सीएचसी पर निर्भर है। जबकि इस अनुपात में चिकित्सक की घोर कमी है। वर्तमान में सीएचसी में चिकित्सा प्रभारी को छोड़कर एक डेंटल चिकित्सक और एक आयुष चिकित्सक है। कहा कि महिला चिकित्सक और शिशु रोग का डॉक्टर नहीं रहने से आमजनों को भारी परेशानी होती है। वहीं बताया कि सीएचसी में मलेरिया छोड़कर किसी भी चीज की जांच भी नहीं होती है। हालांकि समस्या सुनने के बाद विधायक ने मौके पर से ही देवघर सीएस को फोन करके सारठ सीएचसी के तीन चिकित्सक जो देवघर में प्रतिनियुक्त है उसे तत्काल प्रतिनियुक्ति रद्द करके वापस सारठ भेजने का निर्देश दिया। जिस पर सीएस ने दो चिकित्सक को वापस सारठ भेजने की बात भी कहीं है। वहीं विधायक ने कहा कि आम जनता की असुविधा को देखते हुए विधायक फंड से सारठ व पालाजोरी सीएचसी में एक-एक एनीलाइजर मशीन, ईसीजी मशीन व एक-एक  एम्बुलेंस देने की भी घोषणा की। वहीं कहा कि एनीलाइजर मशीन लग जाने से आम लोगों को ब्लड यूरिया, यूरिक एसिड, टाइफाईड, सोडियम, केल्सियम, पोटेशियम, जॉन्डिस, किडनी, पेशाब, पैखाना आदि अन्य कई तरह की जांच सीएचसी में ही उपलब्ध होगी। वहीं ईसीजी मशीन लग जाने से हार्ट से संबंधित बीमारी की भी जांच होगी। विधायक ने प्रभारी चिकित्सक को 15 दिन के अंदर एक्सरे मशीन हर हाल में चालू करने का भी निर्देश दिया। वहीं विधायक ने कहा कि जल्द ही सारठ व पालाजोरी में ऑक्सीजन प्लांट भी लग जायेगा। इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। उसके बाद यहां के लोगों को ऑक्सीजन के लिए कहीं जाना नहीं होगा।

अस्पताल में एक

आईसीयू बेड भी लगेगा :  बैठक में सीएचसी में एक आईसीयू बेड लगाने का भी प्रस्ताव लिया गया। जिसको लेकर सिविल सर्जन से भी सहमति लेने की बात विधायक द्वारा कही गई। मौके पर लेखापाल सरोज सिंह, स्वस्थ्यकर्मी रीना कुमारी, अंजू कुमारी के अलावे कई अन्य मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं