स्थानीय राहुल अध्ययन केंद्र में हुल दिवस व बाबा नागा अर्जुन की जयंती सादे समारोह में मनाया गया !



मधुपुर 30जुन स्थानीय राहुल अध्ययन केन्द्र में हुल दिवस व बाबा नागार्जून की जयन्ती सादे समारोह मै मनायी गई । मौके पर सिद्धो - कान्हु व बाबा नागार्जून की तस्वीर पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किया गया । मौके पर जनवादी चिंतक  धनंजय प्रसाद ने संताल  हूल व बाबा नागार्जून के संदर्भ मे विस्तार पूर्वक चर्चा करते हुये कहा कि आजादी की लड़ाई का शंखनाद था ।हूल ने व्रिट्रानी हुकूमत की नीव हिलाने का काम किया । हूल के परिणाम स्वरुप ही संताल यरगाना काश्तकारी अधिनियम और संताल परगना अलग जिला बना । आज अधिनियम को बदलने की साजिश की जा रही है ,जो हूल की अस्मिता के साथ खेलवाड़ ही नही सिद्धो - कान्हु का अपमान है । उन्होने कहा कि नागार्जुन आधुनिक कबीर थे । इसके अलावे अन्य लोगों ने भी श्रद्धासुमन अर्पित किये!

कोई टिप्पणी नहीं