सारठ में टीकाकरण जागरूकता का दिख रहा असर, केंद्रों पर टीका लेने के लिए उमड़ी भीड़



सारठ : सरकार के निर्देश पर चलाये जा रहे जागरूकता अभियान का धीरे-धीरे असर भी दिखने लगा है। मंगलवार को सीएचसी के अलावे प्रखंड कार्यालय में चल रहे विशेष टीकाकरण केंद्र पर टीका लेने के लिए लोगों की खासी भीड़ उमड़ पड़ी। नतीजा सीएचसी में सामाजिक दूरी की जमकर धज्जियां भी उड़ी और प्रशासन की ओर से कोई ठोस पहल नही देखी गई। हालांकि प्रशासनिक अधिकारियों के लगातार जागरूकता अभियान चलाने का धीरे-धीरे ही सही, मगर असर दिख रहा है और ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी कोरोना के कहर से बचने के लिए टिका लगवाने केंद्र पर पहुंच रहे हैं। वहीं दूसरी ओर टीका लेने आये लोगों की भीड़ व अफरा-तफरी से लोगों में संक्रमण फैलने का खतरा भी बनने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। ऐसे में टिका लेने आये लोग केंद्र में सामाजिक दूरी का पालन करते हुए कतारबद्ध होकर टीका ले, यह भी अतिआवश्यक है, लेकिन केंद्रों में लोगों को यह समझाने के लिए कोई ठोस पहल होता नहीं दिख रहा है। वहीं प्रखंड मुख्यालय में चल रहे टीकाकरण केंद्र में प्रतिनियुक्त सीएचओ मनीषा कुमारी ने बताया की यहां पर आम लोगों के लिए टीकाकरण उपलब्ध नहीं है बल्कि प्रखंड कार्यालय से संबंधित सरकारी व गैर सरकारी कर्मियों, शिक्षकों, स्वयं सहायता समूह के सदस्यों के अलावे अन्य वैसे कर्मी जो किसी प्रकार से प्रखंड कार्यालय से संबंधित कार्यों से जुड़े हुए हैं, उनके लिए ही विशेष केंद्र है। लेकिन सही जानकारी के अभाव में आम आदमी परेसान हो रहे हैं। बताया गया कि प्रखंड कार्यालय में 18 वर्ष से ऊपर के लोगों के लिए सिर्फ 40 डोज ही उपलब्ध कराया गया है। जिसके कारण टीकाकरण के लिए पहुंचे सभी लोगों को टिका नहीं मिल पा रहा है। वहीं इस संबंध में सीएचसी प्रभारी डॉ. जियाउल हक से संपर्क करने पर बताया गया कि 18 से 44 वर्ष के लोगों का वैक्सीन समाप्त हो चुका है और इसके लिए सिविल सर्जन से वैक्सीन की मांग की गई है। उम्मीद जताया गया कि यथाशीघ्र वैक्सीन की आपूर्ति होने की संभावना है, लेकिन जब तक सिविल सर्जन कार्यालय से वैक्सीन प्राप्त नहीं हो जाता तब तक 18 प्लस का टीकाकरण बन्द ही रहेगा।

कोई टिप्पणी नहीं