मारगोमुंडा प्रखंड के हिरणगढ़ा स्थित पत्थर खद्दान्न में ब्लास्टिंग के बाद उड़ कर पट्टाजोरी गांव में गिरे पत्थर के दूकड़े को देखते ग्रामीण ।



मधुपुर 01जुन  अनुमंडल के मारगोमुंडा प्रखंड अंतगर्त पीपरा पंचायत के मौजा हिरणगढ़ा गांव में संचालित पत्थर खदान में सोमवार को कथित लीज धारकों द्वारा किए गए असुरक्षित शक्तिशाली ब्लास्ट से खदान से सटे पट्टाजोरी गांव के कई परिवार बाल बाल बचे । घटना के बाद ग्रामीण दहशत का माहौल है। ग्रामीणों ने जिले के उपायुक्त से मामले जांच कर दोषी के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए खदान का लीज रद् करने की मांग किया हैं । ग्राभीणों ने बताया जाता है कि  खदान के लीज धारकों द्वारा खुदाई में पत्थर तोड़ने के लिए काफी शक्तिशाली विस्फोट कराया जाता है। जिसके कारण पत्थर टूट कर दूर-दूर तक फैल जाते हैं। कभी-कभी तो ब्लास्ट में उड़े पत्थर गांव तक भी पहुंच जाते हैं, । दो दिन पूर्व  सोमवार को हुआ।इस शक्तिशाली विस्फोट के कारण छोटे बड़े पत्थरों के साथ तकरीबन 20 किलो का एक बड़ा पत्थर एक मकान के समीप आकर गिरा।अगर वह पत्थर उस मकान पर गिरता तो जन-माल की हानि तथा एक बड़े हादसे से इनकार नहीं किया जा सकता था।इस संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि दोपहर तकरीबन 1:30 बजे ब्लास्ट की जोरदार आवाज सुनाई दी। जिसे सुनकर अधिकांश लोग अपने अपने घरों से बाहर निकल पड़े। बाहर निकल कर देखा तो एक बड़ा पत्थर एक मकान के कुछ दुरी पर गिरा था। जिसे घेर कर बच्चे खड़े थे। ग्रामीणों का कहना है कि पिछले कई वर्षों से यहां पत्थर की खुदाई की जा रही है। जिसके लिए शक्तिशाली विस्फोट किया जाताा हैं। लेकिन इस विस्फोट से उड़ने वाले पत्थरों से आसपास के लोगों या उनके घरों की सु़रक्षा की कोई व्यवस्था लीज धारकों द्वारा नहीं की गई है। न ही विस्फोट करने की कोई सूचना या चेतावनी ही दी जाती है। उक्त कंपनी द्वारा अक्सर किए जाने वाले इन असुरक्षित विस्फोटों से में स्थानीय ग्रामीणों में दहशत का माहौल है!

No comments