भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने दिया एक दिवसीय धरना प्रदर्शन। मोदी सरकार को साधा निशाना।



कुंडहित (जामताड़ा):भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी सहित सभी बामदल एवं विभिन्न किसान मजदूर जन संगठन के बैनर तले शनिवार को किसान नेता स्वामी सहजानंद सरस्वती की पुण्य तिथि एवं किसान आंदोलन का 7 महीना पूरा होने पर लोकतंत्र बचाओ, खेती बचाओ आंदोलन कुंडहित डाक बंगला के समक्ष कोविड-19 की गाइडलाइन के पालन करते हुए धरना प्रदर्शन किया गया। धरना प्रदर्शन के दौरान  भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव कन्हाई चंद्र माल पहाड़िया ने कहा  की मोदी सरकार की शासनकाल में  डीजल, पेट्रोल, गैस की मूल्य वृद्धि से महंगाई चरम पर है ।मोदी सरकार जनता का किए गए सारे वादे से फेल हो गए ।मोदी सरकार कोरोना  काल में देश का किसान, मजदूर, नौजवान, मध्यवर्ती ,छोटे- छोटे व्यापारी, सभी का रोजगार छिन लिया है।  देश का साधारण जनता को कर दिया है बेहाल और देश का पूंजीपति टाटा ,अंबानी ,अडानी को कर दिया है मालामाल ।यह सरकार किसान और मजदूर विरोधी है। दिल्ली में किसान का आंदोलन आज 7 महीना पूरा हो गया है और आंदोलन में 600 किसान शहीद हो गए हैं । मोदी सरकार घड़ियाली आंसू बहा कर सस्ती लोकप्रिय हासिल करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि  भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी धरना के माध्यम से मांग करते हैं कि डीजल ,पेट्रोल ,गैस का मूल्य वृद्धि को वापस लो ।किसान विरोधी तीनों काला कानून को रद्द करें ।मजदूर विरोध चार कोड वापस लो, बिजली बिल 2020 को निरस्त करें ।केरल सरकार की तरह सभी जरूरतमंद लोगों को 10 किलो अनाज एवं सभी उपयोगी वस्तुओं को घर-घर अपूर्ति करें। झारखंड सरकार किसानों का धान बकाया राशि अविलंब भुगतान करें। मौके पर अजीमल दत्ता ,निरोद घोष, सीमंता भंडारी, सुखदेव घोष हिरण बावरी, मंटू बागति,जयदेव घोष ,गोपाल बावरी, रूपचंद बावरी आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं