बिक्रमपुर में चापाकल से खुद से निकल रहा है पानी।



कुंडहित (जामताड़ा) कुंडहित प्रखंड के बिक्रमपुर  गांव स्थित चापाकल में प्रतिवर्ष की तरह इस वर्ष भी खूद से पानी निकलना प्रारंभ हो गया है|इससे ग्रामीणों में खुशी की लहर है|बता दे प्रतिवर्ष वर्षा के समय लगभग 4-5से महीना चापाकल से खुद से पानी निकलता है|इससे लोगों को पेयजल के लिए पानी लेने में आसानी होती है|लोग चापाकल के सामने बाल्टी व घड़ा रख देते है और अपने आप पानी भर जाता है|बता दे यह चापाकल मुख्य चापाकल है|इसी चापाकल के भरोसे हजारों की संख्या में लोग निर्भर है|गौरतलब है कि चापाकल का निर्माण लगभग 18 साल पूर्व हुआ तभी से वर्षा के समय खुद से पानी निकलता है|इस संबंध में ग्रामीण जुल्फीकार खान, सिसमोहम्मद खान, साही खान, इरफान खान, सब्बीर खान सहित आदि ग्रामीणों ने कहा कि प्रतिवर्ष लगभग 4-5 से महीना चापाकल से खुद से पानी निकलता है|इससे ग्रामीणों को पेयजल लेने में सहुलियत होती है|

कोई टिप्पणी नहीं