कोरोना के कारण जान गँवा चुके चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मियों को दी गई श्रद्धांजलि।



मधुपुर- अनुमंडल अस्पताल मधुपुर के उपाधीक्षक डॉक्टर मोहम्मद शाहिद की उपस्थिति में सोमवार को सभी चिकित्सा पदाधिकारी एवं कर्मचारियों ने 2 मिनट का मौन रखते हुए कोरोना काल में देहांत हुए चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मियों को श्रद्धांजलि दी तथा ईश्वर से उन लोगों के आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना किया। उपाधीक्षक डॉ मोहम्मद शाहिद ने बताया कि गत वर्ष मार्च 2020 से अभी तक स्वास्थ्य विभाग को अपूरणीय क्षति हुई है। अभी तक देवघर जिला सहित पूरे प्रदेश में कई चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी निष्ठा पूर्वक कार्य करते  हुए अनेकों मरीजों को तो करोना से बचा लिया।  जिससे कई परिवार अपने परिजनों को खोने से बच गए। परंतु अति खेद की बात है कि कोरोना  ग्रसित मरीजों के इलाज करते हुए खुद चिकित्सा पदाधिकारी एवं कर्मचारी करोना पॉजिटिव हो गए इसमें से अधिकतर तो स्वस्थ हो गए। परंतु कुछ चिकित्सा पदाधिकारी एवं  कर्मचारी का देहांत हो गया। यह स्वास्थ्य विभाग के लिए अपूर्णीय क्षति है। इसे भुलाया नहीं जा सकता है। इन लोगों के परिवार वालों पर क्या गुजर रहा होगा से सहज महसूस किया जा सकता है।  फिर भी अभी भी हमारे सभी चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी निष्ठा भाव से कोरोना ग्रसित मरीजों का इलाज कर रहे हैं तथा मरीजों को स्वस्थ करके घर भेज रहे हैं। जिनके स्वस्थ होने पर मरीजों में काफी उत्साह देखी जाती है। कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है। बल्कि अपनी सावधानी रखते हुए कार्य करना है। कार्य के दौरान फेस मास्क सैनिटाइजर, फेस शिल्ड, पीपीइ  किट का उपयोग करते हुए कार्य करना है तथा आम जनों से विशेष अनुरोध होगा कि कोरोना का मात देने हेतु वैक्सीन अवश्य लें। क्योंकि यही एक मात्र उपाय है जिससे कोरोना से बचा जा सकता है। साथ ही फेस मास्क अवश्य लगाएं, डिस्टेंस मेंटेन करें , ताकि  कोरोना के चेन को तोड़ा जा सके। मौके पर डॉ नीलकमल भारद्वाज, प्रखंड लेखा प्रबंधक प्रशांत सौरव, मोहम्मद इमरान अंसारी, रूपेश कुमार, दामोदर वर्मा, देशराज कुमार, प्रमोद पंडित, महेंद्र प्रसाद, राजीव रंजन, तपन कुमार, विनोद कुमार दास, मीना देवी,शिवानंद झा समेत सभी चिकित्सा पदाधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं