देवघर में स्कूल खोलने के निर्देश को लेकर शिक्षकों में भ्रम की स्थिति।



देवघर- झारखंड प्रगतिशील शिक्षक संघ ने प्राथमिक शिक्षा निदेशक को पत्र लिखकर देवघर के जिला शिक्षा अधीक्षक द्वारा जिले में स्कूल खोले जाने से संबंधित पत्र से अवगत कराया है। दरअसल वर्तमान में राज्य में स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के प्रभावी रहने के कारण सभी प्रकार के शैक्षणिक संस्थान बंद रखने और इस दौरान ऑनलाइन शिक्षण की व्यवस्था जारी रखने का आदेश दिया गया है। लेकिन देवघर जिला शिक्षा विभाग द्वारा विद्यालय खोलने संबंधी निर्देश जारी करने के कारण शिक्षकों में भ्रम की स्थिति उत्पन्न हो गई है। संघ ने कहा कि जिला शिक्षा अधीक्षक सह अपर जिला कार्यक्रम पदाधिकारी द्वारा विद्यालय खोलने संबंधी आदेश नौ जून को व्हाट्सएप के माध्यम से प्राप्त हुआ, लेकिन इसमें पत्र जारी करने की तिथि तीन जून अंकित है। चार जून से ही विद्यालय खोलने के लिए निर्देशित किया गया है। संघ के प्रदेश अध्यक्ष आनंद किशोर साहू और प्रदेश महासचिव बलजीत कुमार सिंह के मुताबिक इस संबंध में देवघर उपायुक्त को पत्र लिखकर नियमसम्मत कार्रवाई करने का आग्रह किया गया है। वहीं निदेशक जेसीईआरटी द्वारा जारी पुस्तक वितरण संबंधी दिशा-निर्देशों को दरकिनार कर शिक्षकों को पुस्तक उठाव के लिए बीआरसी कार्यालय में जमावड़ा लगाया गया और विद्यालय तक पुस्तक पहुंचाने की पूरी जिम्मेवारी शिक्षकों के कंधे पर डाली गई। जबकि पुस्तक उठाव के लिए प्रति विद्यालय 500 रुपये बीआरसी को आवंटित किया गया है। वहीं शिक्षकों द्वारा बीआरसी से पुस्तक उठाव के लिए विद्यालय अनुदान राशि से भी खर्च की जा रही है। इसके फलस्वरूप सरकारी मद से एक हीं कार्य के लिए दो बार राशि निकासी की प्रबल संभावना है।

कोई टिप्पणी नहीं