91 साल बाद थम जाएगी तूफान एक्सप्रेस ट्रेन



स्वतंत्र भारत के पूर्व हावड़ा न्यू दिल्ली रेल खंड पर उद्यान आभा तूफान एक्सप्रेस ट्रेन इतिहास के पन्नों में गुम हो गई है। इस के साथ हावड़ा अमृतसर, अपार इंडिया, सियालदह आनंद विहार समेत सात प्रमुख ट्रेनों को भी स्थाई रूप से विराम लगाने का प्रक्रिया अंतिम चरण में है। वहीं ट्रेनों का स्थाई रूप से रद्द किए जाने की पुष्टि अधिकारिक रूप से नहीं किया गया। बताते चलें कि उद्यान आभा तूफान एक्सप्रेस ट्रेन 13007/13008 ट्रेनों का परिचालन 1990 से शुरू किया गया था। जो देश के 8 राज्य राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश ,बिहार, पंजाब, हरियाणा ,झारखंड ,बंगाल से गुजरती थी। रेलखंड की सबसे लंबी दूरी हावड़ा से श्री गंगानगर तक 1973 किलोमीटर तय करने वाली 1 जोड़ी ट्रेन था। रेलखंड के अधिकांश स्टेशनों पर ठहराव को लेकर दैनिक यात्री के लिए सबसे महत्वपूर्ण ट्रेन माना जाता था ।भाप इंजन के दौरान इस ट्रेन की रफ्तार देखने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों के रेल खंडों के समीप बने घर से लोग दौड़कर ट्रेन देखते थे। उस समय हावड़ा से दिल्ली जाने वाली महत्वपूर्ण ट्रेनों में से मात्र एक ट्रेन मानी जाती थी ।कई दशक पूर्व क्यूल रेलखंड से बढ़िया स्टेशन के समीप इस ट्रेन के ठहराव को लेकर कुछ लोग रेलखंड पर अपनी जान दे दिया था। रेलवे के हवाले से बताया जाता है। कि जीरो वेश टाइम टेबल से गुजरने वाली ट्रेनों का परिचालन धीरे-धीरे रेलवे द्वारा स्थाई रूप से बंद कराने का फैसला लिया गया। बताया जाता है कि तूफान एक्सप्रेस, हावड़ा अमृतसर एक्सप्रेस, अपार इंडिया, सियालदह आनंद विहार समेत अन्य ट्रेन चलने वाली जीरो वेश के माध्यम से रेलवे द्वारा स्थाई बंद करने का रेलवे द्वारा निर्णय लिया जा रहा है। जो संभवत रेलवे द्वारा अंतिम चरण में चल रहा है। वही कोरोना काल से 19 मई 2020 से पूर्व निरस्त चल रही है ।श्री गंगानगर से हावड़ा के बीच 1969 किलोमीटर सफर में 112 रेलवे स्टेशन पर ठहराव कर होता था।

इतनी लंबी दूरी सफर में राजस्थान, पंजाब  हरियाणा, दिल्ली, बिहार ,उत्तर प्रदेश, झारखंड ,बंगाल से गुजर रही थी ।उसे स्थानीय लोगों का विशेष ट्रेन मानी जाती थी। रेल सूत्रों से बताया गया कि उद्यान आभा तूफान एक्सप्रेस प्रतिवर्ष कोहरे की वजह से लंबे समय तक परिचालन के दरमियान विलंब और रद्द होने का लंबा रिकॉर्ड बना हुआ था। ट्रेन कभी टाइम टेबल के तहत चल पाई ।इसके पूर्व भी इस रूट होकर गुजरने वाली ट्रेन लाल किला एक्सप्रेस, जनता एक्सप्रेस, मुंबई  जनता  बैजनाथ धाम काशी, विश्वनाथ एक्सप्रेस को हटा दिया गया है। हावड़ा से श्रीनगर चलने वाली सीधी सेवा रेल यात्रियों को मात्र एक ट्रेन तूफान एक्सप्रेस थी। जिसकी भविष्य में संभावना चलने की कम देखी जा रही है ।बरहाल रेलवे द्वारा कोविड-19 को लेकर लंबे समय से अस्थाई रूप से ट्रेन का परिचालन बंद है। दिल्ली लाल किला एक्सप्रेस  जनता एक्सप्रेस इन दोनों के परिचालन कई वर्षों पूर्व अस्थाई रूप से बंद करा दिया गया था।

No comments