सूर्य नमस्कार महायज्ञ समिति देवघर ने छत्रपति शिवाजी का 478 वां राज्याभिषेक उत्सव मनाया



देवघर।आज जेष्ठ शुक्ल त्रयोदशी 2078 को सिंगारडीह  स्थित विशाल गौरव मेमोरियल ट्रस्ट के सभाकक्ष में सूर्य नमस्कार महायज्ञ समिति देवघर के द्वारा छत्रपति शिवाजी का 478 वां राज्याभिषेक उत्सव मनाया गया कार्यक्रम की शुरुआत शिवाजी के माल्यार्पण कर किया गया जिसमें उपस्थित नवयुवकों को संबोधित करते हुए सूर्य नमस्कार महायज्ञ समिति के संयोजक नारायण  टिबड़ेवाल ने कहा की शिवाजी ने शून्य से विराट का निर्माण किया जब देश औरंगजेब के क्रूर अत्याचार से पीड़ित था हिंदुओं को जीने के लिए जजिया टैक्स देना पड़ता था तो माता जीजाबाई ने शिवनेरी के दुर्ग में शिवजी  को‌ आराधना करते हुए एक बालक को जन्म दिया जिसे शिवाजी का वरदान मानकर शिवाजी नाम दिया गया बाल्यकाल से ही किशोरों एवं युवक मराठों को संगठित कर शिवाजी ने आदिलशाही के कई किलों को जीतने या एवं अनेक वीरों से सुसज्जित सेना का निर्माण किया जिसमें तानाजी मालुसरे प्रभु देशपांडे सहित हजारों शुरवीरों ने शिवाजी के कुशल सेनापति में सैकड़ों युद्ध जीते एवं हिंदुओं के स्वतंत्र राज्य की स्थापना की वर्ष 1674 में जेष्ठ शुक्ल त्रयोदशी के दिन राजा अभिषेक संपन्न हुआ जिसे हम विजय दिवस के रूप में मनाते है मौके पर नारायणजी ने कहा कि शिवाजी 53 वर्ष तक ही जीवित रहे इस छोटे से जीवन काल में उन्होंने 537 युद्ध लड़े आज जब अपना देश विभिन्न प्रकार के संकटों से घिरा है हिंदू समाज स्वतंत्र भारत में भी प्रताड़ित किया जा रहा है ऐसे समय शिवाजी की प्रेरणा से ही हम उसका प्रतिकार करने में समर्थ होंगे एवं अपना गौरव थे साथ पूरी दुनिया में विजय पताका फहराने के के लिए शिवाजी के नक्शे कदमों पर चलना होगा मंच संचालन विपेद्र झाजी ने किया कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में युवक उपस्थित हुए जिसमें सुनील राजेश तिवारी विजय कुमार संदीप कुमार मुन्ना कुमार उमेश मंडल दुर्गेश कुमार वर्षा कुमारी पूनम कुमारी सहित दर्जनों युवक-युवतियों उपस्थित थी

कोई टिप्पणी नहीं