निशा कुमारी ने बीपीएससी परीक्षा में 444 रैंक लाकर अपने जिले का नाम किया रोशन



सारठ/  कहते हैं कि काम कुछ ऐसा करो कि सफलता शोर मचा दे कुछ ऐसा ही कर दिखाया है चितरा कोलियरी के बगल गांव तिलैया निवासी ईसीएल कर्मी अशोक कुमार सिंह की पुत्री निशा सिंह ने । निशा सिंह ने 64 वीं बीपीएससी परीक्षा में 444 रैंक लाकर सफलता का परचम लहराया है । सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को खबर मिलते ही उन्हें बधाई देने वालों का सिलसिला शुरू हो गया है।   इनके दादा जी नागेश्वर प्रसाद सिंह दादी निर्मला देवी पिता अशोक कुमार सिंह माता इंदू सिंह समेत इनके मामा घर मैं खुशी की लहर दौड़ पड़ी। बताते चलें कि निशा कि पढ़ाई में नानी घर का अहम योगदान रहा है। अपनी सफलता पर  प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए निशा ने बताया कि 10वीं एवं 12वीं की पढ़ाई डीएवी हेहल रांची से पूरी की। इसके बाद बीसीईटी दुर्गापुर से बीटेक किया। ईसीई में बीटेक करने के बाद एक साल TCS में जाॅब भी किया। इनके मन में सिविल सर्विस में जाने की  इच्छा थी इसलिए  नौकरी छोड़ दिल्ली में रहकर सिविल सर्विस की  तैयारी में जुट गई। एक  बार यूपीएससी मुख्य परीक्षा भी पास कर चुकी है। बीपीएससी में सर्किल आफिसर के लिए चुनी गई है ।

निशा ने बताया कि इनकी सफलता में परिवार एवं मामा घर का बहुत योगदान रहा है । रांची से ही नानी  साया की तरह साथ रही हमेशा हौसला अफजाई करते रही। उन्होंने कहा कि आगे भी  यूपीएससी की तैयारी जारी रहेगी।

उन्होंने खासकर तैयारी कर रहे लड़कियों का हौसला अफजाई करते हुए कहा कि मन में सच्ची लगन और मेहनत करने का जज्बा हो तो सफलता हासिल किया जा सकता है। इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद सिविल सर्विस की तैयारी के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि धरातल पर लोगों के बीच काम करने का अवसर सिविल सर्विसेज में बहुत अधिक है इसलिए इस दिशा में कदम रखने का फैसला किया।

निशा कि सफलता पर विवेक सिंह, प्रवीण सिंह, सिंधु सिंह, अशोक चौधरी, राम मोहन चौधरी, भगवान सिंह , शिक्षक दिलीप कुमार राय ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इससे हमारे क्षेत्र के लड़के-लड़कियों को काफी प्रेरणा मिलेगी और अभिभावकों में अपने बच्चों को पढ़ाने के प्रति जागरूकता पैदा होगी।

No comments