आंगनबाड़ी सेविकाओं का 4 माह से मानदेय नहीं सेविकाओं के घरों में फाका कशी की नौबत!



देवघर मधुपुर 15 जून :एक तो कोरोना महामारी में लोग बेरोजगारी में मुबतला है लोगों को घरों में फाका कशी  की नौबत छा गई है वहीं इस कोरोना महामारी में आंगनबाड़ी सेविका और साहीका को चार माह से मानदेय नहीं मिलने के कारण इनकी घरों की हालत भुखमरी सी हो गई है जब के आंगनबाड़ी सेविकाओं के द्वारा इस कोरोना महामारी में लगातार अपने कार्यों को अंजाम दे रहे हैं सेविकाओं द्वारा अपने-अपने क्षेत्र में डोर टु डोर जाकर लोगों को अपन गांव सुनिश्चित गांव अभियान के तहत एक एक लोगों को जागरुक कर रहे हैं और कोरोना संक्रमण से बचाव का पाठ शिखा रहे हैं फिर भी सरकार द्वारा हमेशा आंगनबाड़ी सेविकाओं के साथ नाइंसाफी की जा रहे हैं एक तो आंगनबाड़ी सेविका का मानदेय इतनी कम है के इस से गुजर बसर करना बड़ी मुश्किल है ओर समय पर मानदेय नहीं मिलना महाजन का शिकार हो जाते हैं साथ ही इन सेविकाओं द्वारा उधारी खरीदारी कर बच्चों का पोसाहार चलाते हैं इसका भी विभाग द्वारा समय पर पोषहर का पैसा नहीं देने पर दुकानदारों से भला बुरा आए दिन सेविकाओं को सुनना पड़ता है!

        क्या कहती हैं सीडीपीओ . 

 पूनम सिन्हा ने कहा आवंटन नहीं रहने के कारण सेविकाओं का मानदेय मार्च माह से नहीं मिल पाया है मानदेय के लिए एप्सएंटी सभी सेविकाओं का जिला भेज चुका हूं आवंटन आते ही सभी सेविकाओं का मानदेय का भुगतान कर दिया जाएगा!

कोई टिप्पणी नहीं