देवघर कांग्रेसियों ने पूर्व प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू को दी श्रद्धांजलि



देवघर देश के प्रथम प्रधानमंत्री भारत रत्न पंडित जवाहरलाल नेहरु की 57वीं पुण्यतिथि देवघर जिला  कांग्रेस ने मनाई। कोविड-19 के कारण चल रहे सुरक्षा सप्ताह एवं यास चक्रवात तूफान को लेकर देवघर जिला अध्यक्ष मुन्नम संजय ने कांग्रेस कार्यालय में तथा अन्य नेता, पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने अपने-अपने घरों में पंडित नेहरू की तस्वीर पर पुष्पमाला अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी तथा उन्हें एवं उनके योगदान को याद किया। देवघर जिला अध्यक्ष मुन्नम संजय ने कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरू स्वाधीनता संग्राम  की लड़ाई  लड़ी और देश को आजाद कराया।अंग्रेजी हुकूमत के बाद विषम परिस्थिति में देश का प्रधानमंत्री बनकर बागडौर संभाला और  हिंदुस्तान को परमाणु संपन्न विकासशील देश बनाया। उनकी एक युक्ति आज के शासन काल के साथ सही सिद्ध हो रहा है। उन्होंने कहा था कि "एक पूंजीवादी समाज की शक्तियों को अगर अनियंत्रित छोड़ दिया जाए तो वह अमीर को और अमीर तथा गरीब को और गरीब बना देती है"। जो आज पूंजीपतियों के समर्थित केंद्र की सरकार कर रही है। अडाणी, अंबानी जैसे पूंजीपतियों की संम्पत्ति बढ़ते जा रही है और मजदूर,नौजवान,किसान,और छोटे- छोटे व्यवसायी गरीब होते जा रहे हैं।पूर्व जिला अध्यक्ष राजेंद्र दास ने अपने आवास में पंडित नेहरू को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि बच्चों के प्यारे चाचा नेहरू जब देश के पहले प्रधानमंत्री बने उस समय देश को बहुत विकास की जरूरत थी और पंडित नेहरू ने देश को विकास की ओर अग्रसर किया. उस समय पंडित नेहरू विपक्ष को साथ लेकर और उनकी बातों को तवज्जो देकर आगे बढ़े, लेकिन वर्तमान में केंद्र की सरकार ना तो विपक्ष को तवज्जों दे रही है और ना ही उनकी बातों को। केंद्र की सरकार इस समय सिर्फ अपनी हठधर्मिता करने पर लगी है। 

वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रो.उदय प्रकाश ने कहा कि आज हम पंडित जवाहरलाल नेहरू को सम्मानित करते हैं,जिन्होंने भारत और दुनिया के लिए अविस्मरणीय योगदान दिया है। वे महान बुद्धि के व्यक्ति थे,आधुनिक भारत के निर्माता और सच्चे देशभक्त थे। उन्होंने भारत की आजादी एवं लोकतंत्र की स्थापना के लिए अविस्मरणीय लड़ाई लड़ी। कई बार जेल जाना पड़ा।

सेवा दल के प्रदेश उपाध्यक्ष अजय कुमार ने कहा कि नेहरू के विश्व शांति-सह-अस्तित्व जैसे सिद्धांतों को अपनाकर न सिर्फ भारत बल्कि विश्व केअन्य राष्ट्रों ने भी अपने को सुखमय, शांतिमय एवं समृद्धिमय के शिखर पर पहुंचाया। इनके सिद्धांत सारे राष्ट्रों के लिए कितने प्रासंगिक बन गए । देश में धर्मनिरपेक्षता, समाजवाद एवं लोकतंत्र लाने में पंडित नेहरू की प्रमुख भूमिका रही है। विश्व शांति, मानव मैत्री एवं राजनीतिक मूल्यों के अग्रदूत थे पंडित नेहरू।

मिडिया प्रभारी दिनेश कुमार मंडल ने कहा कि पंडित नेहरू असाधारण विद्वान थे उन्होंने आजादी के संघर्ष के बाद नया,आधुनिक और समृद्ध हिंदुस्तान बनाने के लिए भी संघर्ष किया और देश को ऐम्स,उच्च शिक्षण संस्थान जैसे देश हित में अनेकों कार्य किए। उनके सृजनात्मक रचनाएं उन्हें एक संवेदनशील साहित्यकार और विद्वान इतिहासकार के रूप में पेश करती है। आज उनकी पुण्यतिथि पर उन्हें याद करते हुए सोशल मीडिया  पर हैशटैग #RememberingNehru चलाया। श्रद्धांजलि मुख्य रूप से पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव अवधेश प्रजापति, नगर अध्यक्ष रवि केसरी, महिला अध्यक्ष प्रमिला देवी आदि ने दिए

कोई टिप्पणी नहीं