वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उपायुक्त ने देवघर नगर निगम व मधुपुर नगर परिषद के सफाई मित्रों से मुलाकात कर सभी का धन्यवाद व आभार प्रकट किया



उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में आज दिनांक 31.05.2021 को वीडियो कोंफ्रेंसींग के माध्यम से देवघर नगर निगम व मधुपुर नगर परिषद के सफाई मित्र, कर्मचारियों एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों के साथ ऑनलाइन परिचर्चा सह बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान उपायुक्त ने सभी से बात चीत कर कोविड वैक्सिन के प्रथम डोज, द्वितीय डोज के साथ कोविड नियमों के शत प्रतिशत अनुपालन की स्थिति से अवगत हुए। इस दौरान सफाई कर्मचारियों ने अपने-अपने विचार व सुझाव उपायुक्त के समक्ष प्रस्तुत किए गए। साथ हीं स्वच्छता व कोरोना संक्रमण के रोकथाम अभियान में शत प्रतिशत अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने की बात कही।

इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि आप सभी सफाई मित्र व कर्मचारी हमारे समाज के आधार स्तम्ब है। जिस प्रकार से आप सभी ने कोरोनाकाल में अपने कर्तव्यों का निवर्हन किया है वो वाकई काबिले तारीफ व सराहणीय है। ऐसे में आप सभी से मेरा आग्रह होगा कि कोरोनाकाल के अलावा जिले को स्वच्छ व सुंदर रखने में आप सभी की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण है। वर्तमान में कोरोना वायरस के रोकथाम में स्वास्थ्य कर्मियों व सफाई कर्मियों की ओर से किये जा रहे कार्य और योगदान का समाज सदैव ऋणी रहेगा।

■ कोरोना आपदा काल में सफाई मित्रों व कर्मियों का ऋणी रहेगा समाजः-उपायुक्त....

वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के दौरान उपायुक्त ने कहा कि वर्तमान में कोरोना संक्रमण के मामलों को लेकर सभी को सतर्क व सावधान रहने की जरूरत है। साथ हीं अपने स्तर से लोगों को कोविड वैक्सिनेशन व कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूक करने की आवश्यकता है। इसके अलावे उपायुक्त ने नगर निगम क्षेत्र व मधुपुर नगर परिषद क्षेत्र को स्वच्छ, स्वस्थ्य व सुंदर बनाने के उदेश्य से विभिन्न बिन्दुओं पर विस्तृत चर्चा करते हुए प्रजेंटेशन के माध्यम से आवश्यक बिंदुओं से सभी को अवगत कराया गया। साथ ही उपायुक्त ने इंदौर नगर निगम द्वारा सफाई व कचरा प्रबंधन को लेकर किये जा रहे कार्यों की जानकारियों से सभी को अवगत कराते हुए कहा कि इंदौर कभी आम शहरों की तरह हुआ करता था, मगर आज वह देश में एक खास पहचान बना चुका है। बीते तीन सालों से देश का सबसे स्वच्छ शहर बना हुआ है और इंदौर में यह अचानक नहीं हुआ है। सभी के सामुहिक सहयोग और लोगों ने दिल और दिमाग से स्वच्छता को अपनाया है और उसका नतीजा सबके सामने है। ऐसे में आवश्यक है हम सभी अपने-अपने स्तर से साफ-सफाई की ओर एक कदम बढ़ाते हुए इस दिशा में बेहतर कार्य करें, ताकि देवघर जिला को स्वस्थ, सुंदर और स्वच्छ बनाया जा सके।

इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त ने साफ-सफाई के प्रति लोगों को जागरूक करने के उदेश्य से कहा कि वर्तमान में आवश्यक है कि साफ-सफाई को लेकर सोंच को साकारात्मक बनाया जाय और इसी प्रकार अपने व्यवहार में सभी बदलाव लाएं। जिस प्रकार हम अपने घर में साफ-सफाई रखते है। उसी प्रकार बाहर में भी हमें व्यवहार अपनाने की आवश्यकता है, ताकि जिले को स्वच्छ और सुंदर बनाने में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकें। ऐसे में आप सभी से भी मेरा आग्रह होगा कि साफ-सफाई के साथ लोगों को अपने स्तर से जागरूक करें।

■ बरसात के मौसम को देखते हुए डेंगू के रोकथाम के लिए एण्टी लार्वा केमिकल का लगातार करें छिड़कावः उपायुक्त....

इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने बरसात के मौसम को देखते हुए कहा कि डेंगू, चिकनगुनिया व मलेरिया जैसे बीमारियों के रोकथाम को लेकर आप सभी की भूमिका और भी बढ़ जाती है। ऐसे में एण्टी लार्वा केमिकल का छिड़काव शहर के विभिन्न स्थानों के साथ जल जमाव वाले क्षेत्रों में किया जाय। इसका विशेष रूप से ध्यान रखा जाय। डेंगू के लक्षणों के साथ यह बात ध्यान देने वाली है कि कई रोग और अन्य बुखार आदि के लक्षण भी डेंगू से मिलते जुलते हो सकते हैं और कभी-कभी रोगी में बुखार के साथ सिर्फ 1-2 लक्षण होने पर भी डेंगू पॉजिटिव आ सकता है इसलिए सभी लक्षणों का इंतजार नहीं करना चाहिए। यदि बुखार 1-2 दिन में ठीक न हो तो तुरंत डॉक्टर के पास जाकर चेक-अप करवाना चाहिए।

■ शहरी क्षेत्र के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में आवश्यकता अनुसार टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाई जा रही है....

इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है, बस कोविड नियमों का शत प्रतिशत अनुपालन करते हुए सावधान व सतर्क रहने की जरूरत है। एहतियात बरतते हुए स्वयं को एवं अपने परिवार को सुरक्षित रखें। इसके अलावा उनके द्वारा कहा गया कि कोई भी व्यक्ति किसी प्रकार के अफवाहों पर ध्यान न दे और न हीं घबराएँ या पैनिक हों। सभी लोग अपने स्तर से हरसंभव एहतियात बरतें, ताकि कोरोना के प्रसार पर रोक लगाया जा सके।

■ आयुष्मान भारत योजना की जानकारियों से उपायुक्त ने सभी को कराया अवगत....

वीडिया कान्फ्रेसिंग के दौरान उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने सफाई मित्रों व कर्मियों से बात करते हुए आयुष्मान भारत योजना की जानकारियों से अवगत कराते हुए कहा कि योजना के तहत कमजोर वर्ग के लोगों को हेल्थ इंसोरेन्स की सुविधा मिलती है। आयुष्मान भारत योजना या प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, भारत सरकार की एक स्वास्थ्य योजना है, जिसका उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर लोगों खासकर बीपीएल धारक को हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम मुहैया कराना है। इस योजना के अन्तर्गत आने वाले प्रत्येक परिवार को 5 लाख रुपये तक का कैशरहित स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जा रहा है।

आयुष्मान भारत योजना (ABY) का लाभ, गरीब, वंचित ग्रामीण, शहरी श्रमिक और आर्थिक रूप से बेहद कमजोर शहरी परिवार इस योजना के पात्र हैं। दरअसल, 2011 में की गई सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना (SECC-2011) के डेटाबेस में जिन व्यक्तियों के नाम मौजूद हैं, वे खुद-ब-खुद आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के पात्र हैं। उन्हें ही इसका फायदा मिलेगा। PM-JAY का लाभ लेने के लिए परिवार के आकार या उम्र की कोई सीमा तय नहीं की गई है। योजना के लाभ पूरे देश में कहीं भी लागू करे जा सकते है, और इस योजना के अंतर्गत आने वाले लाभार्थी को देश भर के किसी भी सार्वजनिक या निजी अन्तर्गत अस्पताल से कैशलेस (बिना पैसे दिये) लाभ लेने की अनुमति होगी।

आयुष्मान भारत योजना ई-कार्ड

आयुष्मान योजना के लिए जरूरी कार्ड को ई-कार्ड कहा जाता है। अगर आप इस योजना के पात्र हैं तो ऐसे में अपने परिवार के सभी सदस्यों का ई-कार्ड जरूर बनवा लें। यह कार्ड आप अपने नजदीकी किसी भी रजिस्टर्ड सरकारी या प्राइवेट अस्पताल या कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) जाकर बनवा सकते हैं। रजिस्टर्ड सरकारी या प्राइवेट अस्पताल की लिस्ट वेबसाइट pmjay.gov.in पर देख सकते हैं।

इस दौरान बैठक में उपरोक्त के अलावे नगर आयुक्त शैलेन्द्र कुमार लाल, कार्यपालक दण्डाधिकारी मधुपुर नगर परिषद  सुशील कुमार, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी  रवि कुमार, जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी, सहायक जनसम्पर्क पदाधिकारी रोहित कुमार विद्यार्थी एवं संबंधित विभाग के अधिकारी कर्मी आदि उपस्थित थे।

No comments