टेलीमेडिसिन के तहत टेली परामर्श सेवा देवघर एम्स के द्वारा मंत्री बादल पत्रलेख ने शुभारंभ किया



देवघर, शनिवार 8 मई।  झारखंड सरकार के कृषि एवं पशुपालन मंत्री-सह-झारखंड प्रदेश कांग्रेस के वैक्सीनेशन कमेटी के अध्यक्ष बादल पत्रलेख लगातार प्रदेश के सभी जिलों में भ्रमण कर इस महामारी से रोकथाम व निजात पाने के लिए स्वास्थ्य सुविधा के साथ अन्य व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं एवं उचित मार्गदर्शन के साथ दिशा निर्देश भी दे रहे हैं। ताकि झारखंड वासियों को इस महामारी से उबरने के लिए टीकाकरण से लेकर समुचित स्वास्थ्य व्यवस्था मिल सके। इसी क्रम में शुक्रवार को शाम में देवघर जिला प्रशासन एवं चिकित्सा पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक किया। इसके उपरांत शनिवार को जिले के विभिन्न चिकित्सा संस्थानों एवं सेंटरों का मुआयना कर जाएजा लिया। सर्वप्रथम डाबर ग्राम स्थित पंचायत प्रशिक्षण में एम्स के संजीवनी केंद्र पहुंचा एवं एम्स के कार्यकारी निदेशक डॉक्टर सौरभ वारशैनी एवं उपनिदेशक डॉ अमरेंद्र कुमार के साथ वार्ता किया एवं टेलीमेडिसिन के तहत टेली परामर्श सेवा एम्स देवघर का उद्घाटन किया। उद्घाटन एवं वार्ता के उपरांत मंत्री बादल ने कहा कि टेली परामर्श सेवा जो देवघर एम्स के द्वारा आज शुभारंभ किया गया यह सोमवार से काम करना शुरू कर देगी। जिसमें कुल सोलह डॉक्टर ऑनलाइन घर बैठेलोगों व मरीजों को कोविड-19 के लक्षण,उपचार एवं बचाव का उचित सलाह समय-समय पर देते रहेंगें। इस सेवा के माध्यम से देवघर जिले ही नहीं पूरे झारखंड वासियों को अपनी बीमारी की स्थिति का जानकारी मिलेगा एवं उन्हें कब, कैसे और किस प्रकार का ईलाज या सावधानी बरतनी पड़ेगी। यह जानकारी भी उपलब्ध करायेगी।अगर जरूरत पड़े तो उन्हें जिला प्रशासन से समन्वय स्थापित उन्हें उचित ईलाज एवं भर्ती के लिए बैड व्यवस्था भी कराने में सहयोग करेगी। इस सेवा के लिए मंत्री ने अपने विवेकाधीन कोटा से एम्स को चार टैब उपलब्ध कराने की घोषणा की। जिस पर 24 * 7 पर प्राप्त समस्या पर निदान मिलेगी। आगे  बादल ने एम्स निदेशक को धन्यवाद देते हुए कहा कि टीकाकरण के लिए दस कर्मियों को एवं वेंटिलेटर टेक्निशियन के लिए छः कर्मियों को सहयोग के लिए प्रशिक्षित कर सदर अस्पताल को देकर बहुत बड़ा योगदान किए हैं। यहाँ बहुत जल्द ही ई- संजीवनी का भी शुभारंभ हो जाएगा। इस मौके पर एम्स निदेशक द्वारा मंत्री बादल को सम्मान के रूप में मोमेंटो भेंट किया।

इसके उपरांत पागल बाबा स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जसीडीह का मुआयना किए तथा वहांँ की व्यवस्था पर संतुष्टि जाहिर की। जहांँ अब भी 10 ऑक्सीजन बैड पूरी तरह से खाली है।इस पर सी.एस. को निर्देश दिया कि यह खाली पड़े बैड को का इस्तेमाल अन्य जगहों पर बैड की कमी की स्थिति में किया जाए। 

कोविड-19 टेस्ट की रिपोर्ट में विलंब होने की स्थिति में अपनी गंभीरता को दिखाते हुए बाघमारा उप स्वास्थ्य केंद्र पहुँचे, जहाँ आर.टी.पी.सी. केंद्र स्थापित किए जा रहे हैं। आर.टी.पी.सी. जांच का केंद्र का कार्य पूरा हो चुका है। दो मशीनें पहुंँच चुकी है। एक मशीन के द्वारा प्रति घंटा 98 टेस्ट किए जा सकेंगें। इस प्रकार से हर दिन 10 घंटे में दोनों मशीनों द्वारा करीब दो हजार जांच रिपोर्ट प्रतिदिन जिला को प्राप्त हो जाएगा। जिससे अब जांच रिपोर्ट के लिए सप्ताह दिन का इंतजार नहीं करना पड़ेगा और ससमय ईलाज हो जाएगा। मंत्री ने मशीन इंस्टॉल करने वाले इंजीनियर  मुंडा से भी बात की और यह जांच केंद्र 14 मई को शुभारंभ हो जाएगा।

इसके पश्चात देवघर सदर अस्पताल पहुँचकर जिले के सी. एस. एवं डी. एस. के साथ हर वार्ड का मुआयना किए एवं टीकाकरण, कोरोना जांच तथा मरीजों के उपचार का विशेष रूप से जायजा लिया। वहीं अस्पताल परिसर में मरीजों की सुविधा के लिए 1 जून तक हर हाल में सि.टी. स्कैन लैब सेंटर का चालू करने का तिथि भी मुकर्रर किया गया। मुआयना के दौरान मंत्री द्वारा सिविल सर्जन एवं अस्पताल उपाधीक्षक को उचित दिशा निर्देश देते हुए कहा कि मरीजों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़े। ससमय उचित ईलाज हो। इसके लिए झारखंड सरकार पूरी तरह से तैयार है। किसी भी प्रकार की कोई कमी आने नहीं दी जाएगी।वहीं जिला प्रशासन के व्यवस्था पर से संतुष्टि जाहिर करते हुए धन्यवाद दिया। सरकार का लक्ष्य है कि झारखंड के एक करोड़ बीस लाख युवाओं को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण कराऐंगें। 18 वर्ष से ऊपर वाले संस्थान व कोचिंग सेंटर के युवाओं तथा छात्रों को टीकाकरण करा कर शिक्षण संस्थान चालू कराया जाए। झारखंड वासियों को टीकाकरण कराने के लिए मीडियम सोशल मीडिया के माध्यम से प्रेरित करें। उनके मन से डर एवं भय को निकालने का काम किया जाए। ताकि सत प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य पूरा हो सके और हमको  करोना का जंग जीत सकें। इस दौरान मंत्री बादल के साथ देवघर जिला अध्यक्ष मुन्नम संजय, जे.एम.एम. के सुरेश साह, मीडिया प्रभारी दिनेश कुमार मंडल,अवधेश प्रजापति, डॉ अनूप कुमार के अलावे नोडल पदाधिकारी डॉ. विभूति वैभव एवं जसीडीह से प्रभारी डॉ जे. के. सिंह आदि मौजूद थे।

No comments