उपायुक्त की अध्यक्षता में मीडिया इंटरेक्शन कार्यक्रम का आयोजन



देवघर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में जिले के विभिन्न संस्थाओं के मीडिया प्रतिनिधियों के साथ मीडिया इंटरेक्शन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान उपायुक्त ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि बढ़ते संक्रमण के रोकथाम व कोविड नियमों के शत प्रतिशत अनुपालन को लेकर जागरूकता, सावधानी और सतर्कता की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है, ऐसे में आप सभी से मेरा आग्रह होगा कि वर्तमान में शहरी क्षेत्र के साथ ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को कोरोना संक्रमण, रोकथाम, बचाव वैक्सीनेशन के प्रति सजग और जागरूक करने में जिला प्रशासन की मदद करें, ताकि लोगों को सुरक्षित और स्वस्थ रखा जा सके।


इसके अलावे मीडिया इंटरेक्शन कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने कोविड से जुड़ी विभिन्न गतिविधियों पर विस्तृत चर्चा करते हुए जिले में उपलब्ध सभी सुविधाओं से मीडिया प्रतिनिधियों को अवगत कराया। साथ ही उपायुक्त ने सभी मीडिया बंधुओं से आग्रह करते हुए कहा स्वयं की सुरक्षा का विशेष रूप से ध्यान रखें और निश्चित समय पर कोविड का दूसरा टिका लगवाना सुनिश्चित करे। आज मेडिकल एक्सपर्ट का भी यही कहना है कि ज्यादा से ज्यादा वैक्सीनशन ही इस संक्रमण के चैन को खत्म कर सकता हैं।


■ अपने व्यवहार में कोविड नियमों का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करने की आवश्यकता:- उपायुक्त....

विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री द्वारा जानकारी दी गई वर्तमान में सभी को अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं है। समय पर मरीज अगर चिकित्सकों की सुविधा लेते है, तो उन्हें क्रिटिकल सिचुएशन में आना नहीं पड़ेगा। हार्ड यूनिट इन यूनिट प्राप्त करने के लिए एक्टिव 85% लोगों को वैक्सीनेशन आवश्यक है, परंतु इतना जल्दी सभी लोगों को वैक्सीनेशन कराना संभव नहीं है। ऐसे में कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु कोविड-19 नियमों का अनुपालन अति आवश्यक है। आगे उपायुक्त ने कहा कि वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए लोग स्वयं जिम्मेदार बने एवं पैनिक होने से बचें। जिला प्रशासन का लगातार प्रयास कर रहा है कि शहरी क्षेत्र के अलावा चिकित्सकीय सुविधा पंचायत स्तर तक पंहुचे। इस हेतु कार्यकारी मुखिया, ग्राम प्रधान, पंचायत सचिव, रोजगार सेवक, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, थाना प्रभारी आदि के साथ-साथ सहिया, जेएसलपीएस की दीदियों एवं अन्य समाजसेवियों के सहयोग से जिले के 194 पंचायत हेतु "सुरक्षित गांव हमर गांव" अभियान सुनिश्चित किया जा रहा है, ताकि ज्यादा से ज्यादा ग्रामीणों को जागरूक करते हुए पंचायत स्तर की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को मजबूत बनाया जा सके। वही जल्द ही सभी पंचायतों में ऑक्सीमीटर और कोविड से जुड़े दवाइयों की किट सभी को उपलब्ध कराई जाएगी, ताकि होम आइसोलेशन में रह रहे ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को सुविधा उपलब्ध कराई जा सके।

इसके अलावे मीडिया इंटरेक्शन कार्यक्रम दौरान वैक्सीनेशन, कोरोना संक्रमण के रोकथाम, बचाव के अलावा मीडिया बंधुओं द्वारा दिये गए विभिन्न सुझावों व जानकारियों से उपायुक्त अवगत हुए।

इस दौरान उपरोक्त के अलावे जिला जनसंपर्क पदाधिकारी  रवि कुमार एवं विभिन्न मीडिया संस्थानों के प्रतिनिधि आदि उपस्थित थे।

No comments