डूबता सियासत में उगता समाजसेवी जियाउल हक उर्फ टार्जन !



मधुपुर 29 मई : मधुपुर नगर पार्षद उपाध्यक्ष जियाउल हक उर्फ टार्जन ने प्रेस वार्ता के माध्यम से मीडिया कर्मियों को बताया कोविड-19 का यानी दूसरा लहर बहुत ही खतरनाक रूप ले रखा था लोग भयभीत थे समाजसेवी नेता सब अपने-अपने घरों में रुपोश हो गए थे । हर कोई अपनी जिंदगी गनीमत समझ रहे थे वैसे समय में हमने मधुपुर नगर परिषद क्षेत्र में लोगों के समस्या का निवाकरण किया लोगों के चेहरों पर मुस्कुराहटें देखा सच पूछो तो अपने दिल को जो सुकून मिला वह शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता है उन्होंने आगे कहा अपने राजनीतिक जीवन में 30 वर्ष बिता दिए लेकिन जो कोरोना प्रकोप के दूसरे लहर में हमने देखा वह कही नहीं जा सकती लोग मर रहे थे जनाजा उठाने के लिए कोई तैयार नहीं था हमने लाशों को नहलाने कफनाने और दफनाने का कार्य किया साथ ही साथ कई लाशों को मुक्तिधाम में ले जाकर अंतिम संस्कार भी किए जब कोई किसी के जनाजे को देखना गवारा नहीं कर रहा था वैसे समय में अपने कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर मानवता को बचाने का कार्य किया जिसमें ईश्वर ने हमें खूब साथ दिया सभी वार्ड मोहल्ला का हमने निगरानी किया जरूरतमंदों को खाना राशन पहुंचाने का कार्य किया तथा सभी मोहल्लों का सेनीटाइजर किया गया । यास तूफान के बाद कोविड-19 के प्रकोप में थोड़ी कमी आई है लेकिन एहतियात जरूरी है सरकार और स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए गाइडलाइन का पालन सबके लिए जरूरी है जान है तो सब कुछ है । आगे उन्होंने कहा के समाज सेवा तथा जरूरतमंदों की जरूरत को पूरा करने का प्रेरणा उन्हें धार्मिक ग्रंथ पढ़कर हासिल हुई है मानवता का सेवा से बढ़कर कोई चीज नहीं है उन्होंने कहा हमने अपने आप को जनता के सेवा के लिए समर्पित कर दिया है !

कोई टिप्पणी नहीं