आर्थिक तंगी से जूझ रहे चौकीदार भुखमरी के कगार पर



देवघर।सारवां में एक तरफ जहां कोरोना संक्रमण महामारी से लोग जूझ रहे हैं वहीं दूसरी ओर वेतन नहीं मिलने से आर्थिक तंगी में सारवा व सोनारायथारी के 91 चौकीदार जूझ रहे हैं वेतन नहीं मिलने के कारण कई चौकीदार ऐसे हैं जो महाजन के चंगुल में फंस रहे हैं कुछ चौकीदार हैं जो राशन उधारी ले रहे थे लेकिन अब दुकानदार भी राशन देने से मना करते हैं ऐसी स्थिति में घर परिवार कैसे चलेगा इस संबंध में चौकीदार रंजीत कुमार बास्की तंती शिरोमणि वर्मा डेगना राय राजेंद्र प्रसाद यादव मनी महतो विष्णु वर्मा सागर मिर्धा सुखदेव महतो अरुण यादव सुबोध धन मुर्मू जानकी महतो राहुल कुमार भूदेव यादव रामकिशोर यादव अदन मिर्धा अशोक रवानी भगग्लू हजरा मसूदन मिर्धा सहित अन्य ने जानकारी देते बताया कि पिछले 3 माह से उन लोगों का मानदेय बकाया चल रहा है चौथा महा चढ़ने को है मानदेय नहीं मिलने से उन्हों के समक्ष आर्थिक संकट आ गई है इसको रोना मना मारी के समय में उधार तो दूर की बात है नगद में भी सामान लेने में परेशानी होती है पिछले जनवरी तक का वेतन भुगतान किया गया था फरवरी से लेकर अब तक लंबित चल रहा है जिस कारण कई चौकीदार महाजन के चंगुल में फंसत हंसकर रह गए हैं कुछ लोग दुकान से उधार लेकर राशन चला रहे थे लेकिन अब 3 माह बीत जाने के बाद चौथा माह में दुकानदार भी राशन देने से मना कर रहे हैं इस कोरोनावायरस के समय में ड्यूटी पर चौकीदार सभी डटे हुए हैं लेकिन विभाग द्वारा इस तरह  वेतन भुगतान लंबित किया जाना समझ से परे है उन लोगों ने वेतन भुगतान की दिशा में उपायुक्त से गुहार लगाई है वही चौकीदारों ने बताया कि कभी चौकीदार ही एक ऐसा विभाग में हैं जिन्हें कभी भी प्रत्येक महीने वेतन नहीं मिलता है हर बार 1 महीने 2 महीने विलंब किए जाने के कारण कई चौकीदार आज की तिथि में महाजन के चंगुल में फंसकर अपना परिवार चलाने को विवश है उन लोगों ने मानदेय भुगतान की मांग की है

No comments