किसानों को लैम्पस में धान बेचे बीत गए महीनों लेकिन नही मिला पैसा



नारायणपुर(जामताड़ा): देश के अन्नदाता दिनरात मेहनत कर अपने जमीन पर फ़सल उगाते है |अपनी अन्य जरूरतों को पूरा करने और पुनः कृषि कार्य करने के लिए पूँजी लगाने के लिए  नारायणपुर प्रखंड के मिरगा, पलटा, मंडरो, गम्हरियाटांड समेत अन्य गांवों के किसानों ने प्रखंड में संचालित सरकारी मान्यता प्राप्त अपने नजदीकी लैम्पस में धान बेचे लेकिन अब किसानों के पुनः धान बुवाई का समय आ गया लेकिन किसानों को अभी तक बेचे गए धान का मूल्य नही मिला |किसानों के धान के मूल्य नही मिलने का कारण अब उन्हें धान की फ़सल लगाने में भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है|

*क्या कहते है किसान

इस संबंध में किसान गोवर्धन मंडल ने कहा कि कुछ माह पूर्व अपनी धान की फ़सल को लैम्पस के माध्यम से  बेच दिया |जब धान बेचा तो उस समय उम्मीद थी कि राशि का भुगतान समय पर हो जाएगा लेकिन अब फ़िर से  धान बुवाई का समय आ गया लेकिन अभी तक राशि का भुगतान नही होने से परेशानी हो रही है|सरकार को किसानों से खरीदी गई धान का मूल्य शिघ्र दे देना चाहिए|

(2) इस संबंध में किसान प्रेम मंडल ने बताया कि वर्तमान झारखंड सरकार किसानों की हित की बात करती है | फ़िर किसानों ने जब मैंने अपने 40 किउंटल धान लैम्पस के माध्यम से बेचा |लेकिन अब पुनः अब धान लगाने का समय आ गया लेकिन सरकार ने अभी तक राशि का भुगतान नही किया|अब मुझ जैसे लघु और सीमांत किसानों के सामने कर्ज लेकर धान बुवाई की मजबूरी आ गई  है|किसानों के हित मे घड़ियाली आँसू बहा रही है|

कोई टिप्पणी नहीं