कालाबाजारी व जमाखोरी करने वालों को चिन्हित करते हुए करे एफआरआई दर्ज:- उपायुक्त



जिले में प्रखंड व पंचायत स्तर तक स्वास्थ्य संबंधित व्यवस्थाओं को सुदृढ़ करने के उद्देश्य से उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला, प्रखंड, पंचायत स्तर पर किए जा रहे कार्यो की समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान उपायुक्त ने जिला, प्रखंड व पंचायत स्तर पर बाहर से आने वाले श्रमिकों की सुविधा हेतु आइसोलेशन व क्वारंटाइन सेंटर की व्यस्थाओं को आपसी समन्वय के साथ दुरुस्त करने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया। 

इसके अलावे समीक्षा बैठक के क्रम में उपायुक्त ने कार्य में कोताही बरतने वाले अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई करने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया। साथ ही जिले में कोविड वैक्सीनशन, टेस्टिंग के अलावा कोविड नियमों के शत प्रतिशत अनुपालन व मास्क अर्थदंड अभियान को लेकर संबंधित अधिकारियों, प्रखंड विकास पदाधिकारी व अंचलाधिकारियों को लोगों को जागरूकता करते हुए सख्त कदम उठाने का निर्देश दिया। वही शहरी क्षेत्र में नगर निगम व सूचना जनसंपर्क विभाग को विशेष रूप से लोगो को जागरूक करने के साथ प्रखंड व पंचायत स्तर पर प्रखंड विकास पदाधिकारी व अंचलाधिकारी को कोविड वैक्सीन, टेस्टिंग और संक्रमण से बचाव व रोकथाम की जानकारियों से अवगत कराने का निर्देश दिया।

■ जिले के सभी आवश्यक दुकानों के आगे मूल्य तालिका लगवाना करे सुनिश्चित:- उपायुक्त....

वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने खाद्य पदार्थों और अन्य वस्तुओं की कालाबाजारी करके अधिक कीमतों पर सामग्री बेचे जाने के मामलों को संज्ञान में लेते हुए संबंधित वरीय अधिकारियों व अनुमंडल पदाधिकारी को सख्त निर्देशित किया है कि आम लोगों के हित में अपने कार्यक्षेत्र में खाद्य पदार्थों और अन्य जरूरी वस्तुओं की कालाबाजारी व मुनाफाखोरी रोकने के लिए गोदामों, दुकानों की जांच लगातार करते रहें। साथ ही उपायुक्त ने कालाबाजारी व मुनाफाखोरी करने वाले खिलाफ आवश्यक अधिनियम एवं सुसंगत धाराओं के तहत कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

■ कोविड को लेकर बनाये गए कोषांग से जुड़े सभी नोडल अधिकारी रहे 24×7 एक्टिव:- उपायुक्त....

बैठक के दौरान उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री ने कोरोना संक्रमण के रोकथाम को लेकर बनाये गए विभिन्न कार्यों के नोडल अधिकारियों को आपसी समन्वय के साथ कार्य करने का निर्देश दिया, ताकि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराई जा सके। इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त ने वैक्सिनेशन की गति को बढ़ाने के उद्देश्य से जिले के सभी 194 पंचायतों के लोगों को जागरूक करते हुए उन्हें निबंधित करने का निर्देश दिया, ताकि लोगों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में वैक्सिन दिया जा सके। साथ हीं बैठक के दौरान सही गति से माॅनिटरिंग व वैक्सिनेशन के कार्यों को लेकर उपायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग व संबंधित अधिकारियों को सख्त निदेशित किया कि अपने संसाधनों का शत प्रतिशत उपयोग करते हुए ज्यादा से ज्यादा लोगों को कोरोना संक्रमण व वैक्सिन के प्रति जागरूक करें, ताकि शत प्रतिशत वैक्सिनेशन का कार्य जिले में किया जा सके।

इसके अलावे समीक्षा के क्रम में उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने संबंधित अधिकारियों को सख्त निर्देशित किया कि जिला, प्रखंड, पंचायत स्तर पर जागरूक करे, ताकि वर्तमान में लोग मास्क की जरूरत और अहमियत को समझ सके। इसके अलावे उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने क्षेत्रों में सभी लोगों सतर्क और जागरूक करते हुए शत प्रतिशत कोविड नियमों का अनुपालन कराना सुनिश्चित करें, ताकि संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को कम किया जा सकें। साथ प्रखंड स्तर पर कोविड केयर सेंटर से जुड़े आवश्यक व्यवस्था को दुरुस्त करते हुए उपायुक्त कार्यालय को अवगत कराएं।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान पुलिस अधीक्षक अश्वनी कुमार सिन्हा ने अधिकारियों व पुलिस पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि बढ़ते कोरोना संक्रमण से खुद की सुरक्षा के साथ स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह का अनुपालन जिले में शत प्रतिशत कड़ाई से लागू हो इसका विशेष ध्यान रखें। साथ ही नियमों की कड़ाई अनुशासन के दायरे में रह कर करें, ताकि लोगों को परेशानी या कठिनाई न हो। इसके अलावे पुलिस अधीक्षक ने कहा कि वर्तमान में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सबसे महत्वपूर्ण स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के तहत जारी नियमों के अनुपालन के अलावा कोविड नियमों के पालन को लेकर जागरूक और सावधान करने का निर्देश दिया।

इस दौरान उपरोक्त के अलावे नगर आयुक्त, अपर समाहर्ता, सिविल सर्जन, डीआरडीए निदेशक, अनुमंडल पदाधिकारी, देवघर, अनुमंडल पदाधिकारी, मधुपुर, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी देवघर, मधुपुर, सारठ, आपदा प्रबंधन पदाधिकारी, गोपनीय प्रभारी, नजारत उप समाहर्ता, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी, जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, चिकित्सकों की टीम, सभी प्रखंडो के प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, सभी थानों के थाना प्रभारी व संबंधित विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित थे।

No comments